Monday, October 8, 2018

नहर पार ग्रैटर फरीदाबाद के किसानो ने निकाला शान्ति मार्च, मुख्यमन्त्री से मिलने का मांगा समय

फरीदाबाद(abtaknews.com)नहर पार ग्रैटर फरीदाबाद सैक्टर-75 व 80 की अधिग्रहित जमीन को लेकर सैक्टर-75 के मैन गेट पर किसानो की एक बैठक आयोजित की गईघ्जिसमें सैकडो किसानो ने भाग लिया जिसकी अध्यक्षता नहर पार ग्रैटर फरीदाबाद किसान संर्घष समिति के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने की और सभी किसानो ने अपने-अपने विचार रखे और सभी ने एकजुट हो कर विरोध मार्च शांति पूर्वक निकाला। वशिष्ठ ने कहा कि मुख्यमन्त्री यह घोषणा कर चुके है कि जो अधिग्रहित जमीन किसी भी प्रयोग नही आई।  उन जमीनो को किसानो को वापिस किया जाएगा और अधिग्रहित जमीन के बदले किसानो को उस जमीन से लगती हुई जमीन देने मे सरकार को कोईघ्एतराज नही है। नहर पार की सैकडो एकड जमीन को तत्तकालिन सरकार ने मात्र 16 लाख रूपये प्रतिएकड के हिसाब से अधिग्रहित किया था लेकिन वर्तमान सरकार से किसानो को उम्मीद थी कि उनकी समस्या का निवारण जल्दी ही किया जाएगा।

नहर पार के किसानो का प्रतिनिधि मण्डल कई बार स्थानिय विधायक व मन्त्रियो को अधिग्रहित से सम्बन्धित कई दौर की सी$एम$ के आदेश पर बैठके हो चुकी हैघ्लेकिन अभीतक 9 वर्ष पहले अधिग्रहित जमीन का कोईघ्भी हल नही निकाला गया है। वशिष्ठ ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की सरकार ने कहा है कि जिन किसानो ने आजतक अपना मुआवजा नही उठाया है और ना ही अपनी जमीन का कब्जा दिया है ऐसी जमीनो को किसानो को सरकार की वापिस करने की योजना है। यह सारी शर्ते नहर पार के किसानो पर लागू होती है। बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया हैघ्कि मुख्यमन्त्री से नहर पार के किसानो को मिलने का समय दे जिससे वो सारी बाते मुख्यमन्त्री के सामने रख सके। इस बैठक में ब्रहमदत्त वशिष्ठ, मनोज यादव निरंजन चंदीला प्रदीप वशिष्ठ महेन्द्र शर्मा, अनूप, हर्ष वशिष्ठ, नरेन्द्र, रामकुमार, संजय, विक्रम विजय, सतीश चंदीला, ओम प्रकाश, पवन, पप्पू नम्बरदार नरेश, बॉबी, श्रीपाल आदि किसान मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: