Tuesday, October 2, 2018

मोहनदास कर्मचंद गांधी और आज के भक्त


फरीदाबाद 02 अक्टूबर(abtaknews.com)  गांधी जयंती पर विशेष पंक्तियां---------

राष्ट्रभक्ति थी सांसों मेें, आंखों में हिंसक भाव नही।
सत्य सदा से जिव्हा पर, अहंकार का कोई काम नही।
''सादा जीवन उच्च विचार'', व्यवहार में उनके रहता था।
आजादी था एक लक्ष्य, न मंजिल कभी भटकता था।
हरवर्ष पुष्प चढ़ाने वालों, एक गुण भी अपना लो तो,श्रद्धंाजलि पक्की हो जाएगा।
ढोंग को खद्दर से ढकने वालो, सच्चा मन दिखला दो तो खुशहाल राष्ट्र हो जाएगा।
चार नौकर घर में रख, सडक़ों पर झाडू लगाते हो, 
यह कैसी स्वच्छता तुम्हारी, जनता को मूर्ख बनाते हो।
दस्ताने देख हाथों में बापू भी रोते होगें,
सालों साल सफाई करने वालों क्या उनके हाथ भी ढकते होंगें।
कथनी करनी एक करो, सबकुछ सहज हो जाएगा। 
अपना लो ''दिवाकर'' गांधी मंत्र तिरंगा सदा लहराएगा ।


loading...
SHARE THIS

0 comments: