Monday, October 1, 2018

राष्ट्रीय स्वेच्छिक रक्तदान दिवस, संगोष्ठी व सलोगन द्वारा जागरूकता

Awareness by National Voluntary Blood Donation Day, Seminar and Salon
फरीदाबाद(abtaknews.com)राष्ट्रीय स्वेच्छिक रक्तदान दिवस के अवसर पर राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा में जूनियर रेड क्रोस और सैंट जॉन एम्बुलैंस ब्रिगेड द्वारा  संगोष्ठी व सलोगन द्वारा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्या श्रीमती नीलम कौशिक की अध्यक्षता में किया गया। जे आर सी व एस जे ए बी प्रभारी रविन्दर कुमार मनचन्दा ने बच्चों को संगोष्ठी में बताया की आज ही के दिन 1975 में पहली बार राष्ट्रीय स्वेच्छिक रक्तदान दिवस मनाया गया ताकि हम सब सुरक्षित रक्तदान को अपना दायित्व समझें और रक्त के अभाव में कोई जान न जाए। उन्होंने बताया कि इस वर्ष का थीम है " एन एक्शन ऑफ सोलिडेरिटी   -- बी देअर फॉर समवन एल्स " । यह दिन उन लोगों के लिए समर्पित है जो स्वयं रक्तदान कर तथा दूसरे लोगों को रक्तदान के लिए प्रेरित कर अनगिनत बहुमूल्य जानें बचने में जुटे हुए है और प्रयास कर रहे हैं कि कोई भी रोगी रक्त के इंतजार में तड़फता न रहे बल्कि हम ऐसी व्यवस्था करें कि रक्त जरूरतमंद का इंतज़ार करता रहे। इस से पहले बच्चों ने बहुत ही आकर्षक सलोगन लिख कर रक्तदान करने और स्वस्थ रहने कस का संदेश दिया। मनचन्दा ने बच्चों को कहा कि रक्तदान करने से दिल का दौरा या हार्ट फेल होने जैसी अवस्था की संभावना 95 प्रतिशत तक समाप्त हो जाती है इसलिए " नियमित करे रक्तदान कार्य है ये बहुत महान" द्वारा मानवता की सेवा करने के उत्तम अवसर को यू ही नही जाने देना है।
कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित जिला रेड क्रॉस के निवर्तमान सचिव बी बी कथूरिया ने बच्चों को बताया कि रक्त का कोई विकल्प नही, दुर्घटना में घायलों, आपरेशन के समय, डिलीवरी के समय और हार्ट के उपचार व सर्जरी के समय रक्त की आवश्यकता होती है जिसे रक्तदाताओं के द्वारा ही पूरा किया जा सकता है इसलिए सभी सक्षम व्यक्तियों को स्वेच्छिक रक्तदान की परम्परा को और भी बढ़ाए जाने की जरूरत है ताकि रक्त की डिमांड को पूरा किया जा सके और रक्त के अभाव में कोई जिंदगी दम ना तोड़े। प्राचार्य नीलम कैशिक, बी बी कथूरिया, रविन्दर कुमार मनचन्दा, रेनु शर्मा, प्रदीप राठी और अध्यापकों  ने छात्रों को ज्ञानवर्धक सलोगन लिखने तथा रक्तदान के लिए जागरूक होने के लिए शाबासी दी और इस मुहिम को घर, परिवार तथा समाज के हर कोने तक पहुचाने का आग्रह किया।

राजकीय बाल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नंबर 3 एनआईटी फरीदाबाद की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ( एन.एस.एस. युनिट ) के मार्गदर्शन में मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता पूर्व सचिव जिला रेड क्रॉस सोसाइटी फरीदाबाद बी.बी. कथूरिया के तत्वावधान में रक्तदान के प्रति जागरूकता बढाने के लिये आज सुबह प्रार्थना में सभी बच्चों को रक्तदान के बारे विस्तार से बताया और बाद में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के प्रभारी सुशील कणवा के नेतृत्व में एक विशाल रैली का आयोजन किया जिसको मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता पूर्व सचिव जिला रेड क्रॉस सोसाइटी फरीदाबाद बी.बी. कथूरिया व स्कूल प्रिंसिपल राजेश शर्मा ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया । राष्ट्रीय सेवा योजना फ़रीदाबाद के जिला संयोजक व स्कूल के एन.एस.एस. कार्यक्रम अधिकारी सुशील कणवा ने स्वयंसेवको को रक्तदान दिवस के अवसर पर रक्तदान विषय पर बोलते हुये रक्त दान की महता के बारे विस्तार से बताया गया | मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता पूर्व सचिव जिला रेड क्रॉस सोसाइटी फरीदाबाद बी.बी. कथूरिया व एन.एन.एस.कार्यक्रम अधिकारी सुशील कणवा ने स्टाफ व बडे छात्रो को बताया की रक्तदान करने पर किसी भी प्रकार का शरीर में कोई भी नुकसान नही होता है । कोई भी स्वस्थ वयक्ति जिसकी उम्र 18 से 65 वर्ष है , जिसको कोई गंभीर रोग नही है ,जिसका वजन 45 किलो ग्राम , हिमोग्लोबिन 12.5 डी.एल. हो, वह मानव रक्तदान कर सकता है और मानव शरीर मे मौजूद 5000 मि.ली. से 7000 मि. ली .रक्त में से केवल 350 मि.ली.रक्त ही लिया जाता है । रक्तदान में केवल 15 मिनट का ही समय लगता है और दान किये गये रक्त की मात्रा मात्र 48 घंटे में पूर्ण हो जाती है । रक्तदान के पश्चात आप अपना दैनिक कार्य कर सकते है आदि के बारे विस्तार से बताया । मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता पूर्व सचिव जिला रेड क्रॉस सोसाइटी फरीदाबाद बी.बी. कथूरिया व विद्यालय एन.एस.एस. प्रभारी सुशील कणवा छात्रो को संबोधित करते हुये कहा की रक्त मरीज का इंतजार करे न की मरीज रक्त का इंतजार करे , यह तभी संभव होगा जब पर्याप्त मात्रा में रक्तदाता होंगे क्योंकी यह रक्त एक मानव का दूसरे मानव को एक अनमोल तोहफा है और केवल मानव का रक्त ही मानव शरीर को दिया जा सकता है इसलिये पुरुषो को हर तीन महीने में व महिलाओ हर चार महीनो में नियमित रूप से रक्तदान करना चाहिये । राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के प्रभारी सुशील कणवा ने बताया की आज 110 स्वयंसेवकों ने रक्त दान करने का प्रण लिया और जरुरत पडने पर रक्त दान जैसे महादान के लिये सबसे आगे रहने का वचन दिया । एन.एस.एस. इकाई के प्रभारी सुशील कणवा ने बताया की स्कूल की एन.एस.एस. इकाई के मार्गदर्शन में आज दिनांक 01 .10 .2018 को स्कूल के स्वयंसेवको ने रक्त दान दिवस(01 .10.2018 ) के अवसर पर रक्त दान को बढावा देने को लेकर सारे एन.आई.टी.नम्बर 3 फरीदाबाद की मार्किट में से घुमकर रेली निकाली । आज स्कूल के लगभग 110 स्वयंसेवको ने हाथो में रक्त दान महादान ,रक्त दान प्राण दान,रक्त दान करो जान बचावो ,रक्तदान कर कल्याण ,जीते जी रक्त दान - मरणो प्रांत नेत्र दान ,रक्तदान सुरक्षित भी , आसान भी, आदि की पट्टीकाऐ लेकर , नारे लगाते हुये एन.आई.टी. नम्बर 3 फरीदाबाद की गली - गली घुमे । इस अवसर पर स्कूल प्रिंसिपल राजेश शर्मा , प्राध्यापक डॉक्टर जितेन्द्र शर्मा , शिव दत्त भाटी ,विरेंदर पाल , रामकुमार , रविन्द्र मलिक पी. टी.आई. , राकेश शास्त्री आदि स्टाफ स्द्स्यो ने भी समय समय पर रक्त दान करने का संकल्प लिया ।


loading...
SHARE THIS

0 comments: