Sunday, October 7, 2018

मानव जीवन रसायन विज्ञान पर आधारित : प्रो. डा. एस.सी. पुरी

Based on human life chemistry: Prof. Dr. S.C. Puri

फरीदाबाद 7 अक्तूबर(abtaknews.com) : शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार के क्षेत्र में सक्रिय कार्य करने वाली एनजीओ राष्ट्रीय चेतनाशक्ति संस्थापन द्वारा डीएवी कालेज में एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मु यातिथि प्रो. एस.सी. पुरी डीएवी कालेज जालंधर ने ‘रसायन विज्ञान को सुव्यवस्थित रुप से सीखना’ विषय को बहुत ही रोचक तरीके से समझाया। इससे पूर्व संस्था के अध्यक्ष डा. सुखवीर सिंह मलिक पूर्व आईएएस ने बताया कि इस विषय को सीखने के लिए सुनियोजित व सही ढंग से सीखना चाहिए। विद्यार्थियों को रट्टा लगाने की बजाय इसके सिद्धातों को समझ कर आगे बढऩा चाहिए। मु यातिथि प्रो. पुरी ने बताया कि ब्रह्माड़ के कण-कण में कैमिस्ट्री है। मनुष्य के विचारों के अनुरूप ही उसके शरीर में हारमोन बनते है। इन हारमोन की वजह से ही शरीर में विभिन्न प्रतिक्रियाएं होती है। इसके बिना जीवन की कल्पना नहीं कर सकते। उन्होंने सबसे महत्वपूर्ण बात यह बताई की मनुष्य की जीवन कुंडली शत प्रतिशत कैमिस्ट्री पर आधारित है। मानव जीवन को उनकी 12 राशियों में बांटा गया है, जोकि कैमिस्ट्री के विभिन्न तत्वों का प्रभाव पड़ता है। इसके सुव्यवस्थित अध्ययन से इसे अच्छी तरह समझा जा सकता है। गोष्ठी में कैमिस्ट्री विभाग के छात्र-छात्राओं के अलावा विभाग की अध्यक्षा श्रीमति अंकुर अग्रवाल, प्रो. एम.पी. जैन, प्रो. मीनाक्षी ठाकुर, प्रो. प्रिया गर्ग, प्रो. राजकुमारी (भौतिक विज्ञान) प्रो. मुकेश बंसल, प्रो. डा. एन. के. गर्ग तथा आर.वी. ङ्क्षसह मु य रुप से उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कालेज के प्रचार्या डा. सतीश आहूजा ने की।


loading...
SHARE THIS

0 comments: