Thursday, September 13, 2018

करण दलाल को गोली मारने का बयान अभय चौटाला के घमंड का परिचायक : ललित नागर



फरीदाबाद 13 सितंबर(abtaknews.com) तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक ललित नागर ने आज कांग्रेसी विधायक करण दलाल के पक्ष में खुलकर बोलते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला पर हल्ला बोला। उन्होंने कहा कि प्रतिपक्ष के नेता होने के नाते उनके द्वारा विधायक दलाल को गोली मारने का बयान उन्हें शोभा नहीं देता। लोकतंत्र में इस तरह के बयान का कोई स्थान नहीं है ओर यह बयान पूरी तरह से अहंकार और घंमड का परिचायक है। ललित नागर ने विधायक अभय चौटाला के आम्र्स लाईसेंस अविलंब कैंसिल करने के साथ-साथ उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही किए जाने की भी पुरजोर मांग की है। उन्होंने कहा कि विधायक करण दलाल ने सदन में 25 लाख राशन कार्ड धारकों के कार्ड कैंसिल होने के कारण उन्हें राशन न दिए जाने को लेकर गरीबों की आवाज उठाई थी, जो पूरी तरह तर्कसंगत है, ऐसे में नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला द्वारा करण दलाल पर जूता उठाकर उन्हें गालियां देना पूरी तरह से असंवैधानिक है। उन्होंने कहा कि चौटाला को चाहिए था कि वह गरीबों के हक में उठाए गए मुद्दे पर कांग्रेसी विधायक की हां में हां मिलाकर सरकार का विरोध करते, लेकिन उन्होंने भाजपा सरकार के साथ खड़ा होकर साबित कर दिया कि भाजपा और इनेलो एक ही सिक्के के दो पहलु है और विधानसभा अध्यक्ष ने एक तरफा कार्यवाही करते हुए विधायक करण दलाल को एक साल के लिए निलंबित किया जाना इस बात का प्रमाण है कि इनेलो भाजपा की बी टीम है। प्रदेश की जनता इनेलो और भाजपा द्वारा खेले जा रहे खेल को अच्छी तरह समझ चुकी है और आने वाले विधानसभा चुनाव में इन दोनों ही दलों को करारा जवाब देने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि नियमानुसार इनेलो विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल है, लेकिन चार साल में जहां इनेलो और बीजेपी की मिलीभगत सामने आई है वहीं सडक़ से लेकर विधानसभा तक कांग्रेस पार्टी सही मायने में विपक्ष की भूमिका निभाने का कार्य कर रही है।  उन्होंने कहा कि इस पूरे प्रकरण में कांग्रेस पार्टी विधायक करण दलाल के साथ है और सरकार से मांग करती है कि नेता प्रतिपक्ष के खिलाफ संविधान के अनुसार जो कार्यवाही बनती है, वह कार्यवाही होनी चाहिए ताकि भविष्य में इस प्रकार की शर्मनाक घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो सके।

loading...
SHARE THIS

0 comments: