Sunday, September 16, 2018

स्वच्छता अभियान के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे है भाजपाई : ललित नागर


फरीदाबाद(abtaknews.com) तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने आज भाजपा के स्वच्छता ही सेवा अभियान पर बड़ा हमला बोलते हुए इसे भाजपाईयों का फोटोसैशन करार दिया है। उन्होंने कहा कि जिस ओल्ड फरीदाबाद की पुरानी अनाज मंडी से भाजपा के तीन मंत्रियों एवं विधायकों ने स्वच्छता अभियान की शुरुआत की थी, उस स्थान को पहले से ही साफ कर दिया गया था क्योंकि नगर निगम के जो 3100 सफाई कर्मचारी शहर को साफ करने में असमर्थ साबित हो रहे है, ऐसे में मात्र 20 मिनटों में ही इन भाजपाईयों ने कितनी सफाई की होगी, इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। श्री नागर ने कहा कि अगर भाजपा मंत्रियों को वास्तव में स्वच्छता अभियान की शुरुआत करनी थी तो वह बदरपुर बॉर्डर से बल्लभगढ़ बाईपास सडक़ से इस अभियान की शुरुआत करते तो उनके समक्ष स्मार्ट सिटी के वास्तविक विकास का चेहरा उजागर हो जाता क्योंकि शहर की इस मुख्य सडक़ के दोनों ओर गंदगी का साम्राज्य स्थापित है, जो सरकार व प्रशासन के सफाई के दावों की पोल खोल रहा है।

श्री नागर ने कहा कि अपने चार वर्षाे के कार्यकाल में भाजपा सरकार महंगाई व भ्रष्टाचार रोकने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है और इस ओर से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा नेता हाथों में झाडू लेकर स्वच्छता का राग अलापकर लोगों को गुमराह करने का काम कर रहे है परंतु जनता जनार्दन अब इनके जुमलों में आने वाली नहीं है। श्री नागर आज अपने ‘चलो गांव की चौपाल की ओर’ कार्यक्रम के तहत गांव बेला (घुड़ासन) में ग्रामीणों द्वारा आयोजित स्वागत समारोह के उपरांत उपस्थितजनों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान विधायक नागर को गांव की सीमा से मोटरसाइकिलों के विशाल काफिले के साथ जुलूस की शक्ल में सभा स्थल तक लाया गया, जहां गांव की मौजिज सरदारी ने पूरे जोश-खरोश के साथ विधायक ललित नागर को सम्मान रुपी पगड़ी बांधकर गांव की ओर से उनका आदर-सत्कार करते हुए ग्रामीणों ने विधायक के समक्ष गांव की समस्याएं रखते हुए गांवों की बदहाल सडक़ों के बारे में बताते हुए कहा कि घुड़ासन से बेले तक की सडक़, बेला गांव से चांदपुर रोड तक की सडक़ बदहाल है, जिससे आए दिन गांव से आने जाने वाले लोगों के साथ सडक़ हादसे होने का भय बना रहता है इसलिए इनका निर्माण करवाया जाए वहीं यमुना की तरफ जाने वाला कच्चे रास्ते को पक्का करवाया जाए। इसी प्रकार बेला गांव से यमुना पार खेतों पर आने-जाने के लिए यहां पैटून पुल बनवाया जाए वहीं गांव की गलियों में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करवाई जाए। इसके अलावा गांव बेला में पानी की समस्या को दूर करने के लिए यहां नया ट्यूबवैल लगवाया जाए और गांव के सरकारी स्कूल को अपग्रेड करवाया जाए। ग्रामीणों की समस्याएं सुनने के बाद विधायक ललित नागर ने उन्हें विश्वास दिलाया कि उनकी समस्याओं के समाधान के लिए वह संबंधित अधिकारियों से मिलकर उन्हें दूर करवाने का भरसक प्रयास करेंगे। सभी में उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए श्री नागर ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री विधानसभा में सिवाए झूठ के अलावा कुछ नहीं परोस रहे है क्योंकि मनोहर लाल खट्टर ने बतौर मुख्यमंत्री विधानसभा में प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों के विधायकों को समान रुप से ग्रांट देने की सार्वजनिक घोषणा की थी, लेकिन तिगांव विधानसभा क्षेत्र इस बात का उदाहरण है कि उन्हें विधायक के रुप में 4 साल में एक रुपए की ग्रांट भी नहीं भेजी गई है, जिससे क्षेत्र के लोगों में भाजपा सरकार के प्रति गहरा रोष पनप रहा है। उन्होंने कहा कि मानसून सत्र के दौरान स्वयं उन्होंने इस मुद्दे को मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया था, जिस पर वह कोई जवाब नहीं दे पाए, इससे मनोहर सरकार की कथनी और करनी में अंतर स्पष्ट नजर आता है।   इस मौके पर राकेश सरपंच, मेहरचंद, जगत सिंह, धर्मवीर सरपंच, राजवीर सुंदर सरपंच, ब्लाक समिति के सदस्य कंवरपाल यादव, कर्मवीर शर्मा, राम चंद मेम्बर, विशम्बर शामी, हरज्ञान, विनोद सरपंच,संजू सरपंच,चन्द्रपाल, ज्ञानचंद, मानक चन्द त्यागी, रमेश भारद्वाज, दर्शन टेलर, प्रीतम भोजी, श्री कृष्ण नम्बरदार, योगेश कसाना, बाबूलाल रवि, सुन्दर नेताजी, युधवीर झा, सूरजपाल भूरा, कमल चंदीला, सौताज नरवत, महेश ठेकेदार, गंगाराम सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: