Friday, September 7, 2018

हरियाणा बन्द को सफल करके व्यापारी सरकार की चूलें हिलाने का कार्य करें - देवेन्द्र चौहान




फरीदाबाद(abtaknews.com)हरियाणा बन्द को सफल करके व्यापारी सरकार की चूलें हिलाने का कार्य करेंयह बात इनैलो के जिला अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह चौहा  बसपा के जिला अध्यक्ष रतीरा ने फरीदाबाद की जनता से  अपील करते हुए कही। उन्होंने बन्द को सफलबनाने के लिए आज इनैलो  बसपा के कार्यकर्ताओं की अलग-अलग क्षेत्रों में जिम्मेदारी लगाते हुए कहा कि बन्द को शांतिपूर्ण सफल बनाना है। उन्होंने कहा कि इनेलो-बसपा पार्टी ने जनहित मुद्दों  एसवाईएल नहर निर्माण के पक्ष में 8 सितम्बर 2018 को हरियाणा बंद करने का आहवान किया है चौओमप्रकाश चौटाला के नेतृत्व की सरकार के समय 15 जनवरी 2002 को सर्वोच्च न्यायालय ने हरियाणा के पक्ष में फैसला सुनाकर पंजाब सरकार को एसवाईएल नहर निर्माणकरने के आदेश दिलवाए। लेकि भूपेन्द्र सिंह हूडा की सरकार ने अपने 10 साल के शासन के दौरान न्यायालय में ठीक से पैरवी नही की। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष चौअभय सिंह चौटाला जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी से नहर निर्माण केलिए दिल्ली में मिले। दिल्ली में प्रदर्शन करते हु इनैलो कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियां बरसाई। नेता प्रतिपक्ष  जलयुद्ध नेता चौअभय सिं चौटाला के नेतृत्व में 1 मई 2018 से 17 जुलाई 2018 तक जेल भरो आंदोलन में लाखों कार्यकर्ताओंने गिरफ्तारियां दी। सर्वप्रथम यह बताना तर्कसंगत होगा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वे जीएसटी का विरोध करते थे परंतु प्रधानमंत्री बनते ही सर्वप्रथम जीएसटी लागू किया। देश भर के व्यापारियों ने जीएसटी कोकाला कानून बताया है। जीएसटी में ऐसे प्रावधान किए गए हैं जो व्यापारियों को मुसीबत में डालने वाले हैं। जीएसटी का कृषि पर भी सबसे ज्यादा प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। सरकार ने खादकीटनाशक दवाइयों पर जीएसटी लगाकर किसानों कीफसल का लागत मूल्य बढ़ाने का काम किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के अचानक फैसले ने देश में अफरातफरी का माहौल बना दिया। भाजपा सरकार ने कालधेन और भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए नोटबंदी जैसा कदम उठाया।आज तक  तो कालाधन वापस आया और  ही भ्रष्टाचार खत्म हुआ। देशभर में लगभग 80 से ज्यादा लोगों ने एटीएम और बैंकों के बाहर लगी लंबी कतारों में अपनी जान गंवाई हैं नोटबंदी के कारण छोटे उद्योगोंव्यापारियों का व्यापार चौपटहो गया। सरे आम व्यापारियों को बदमाशों के द्वारा धमकी दी जारी हैं और सरकार हाथ पे हाथ रखक विश्वस्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में कमी आने से पहले पेट्रोल पर वै की दर 20 प्रतिशत  डीजल पर 11.5 प्रतिशत। भाजपा सरकार नेबढ़ाकर पेट्रोल पर 25 प्रतिशत और डीजल पर लगभग 17 प्रतिशत और सरचार्ज 12.7 प्रतिशत लगा दिया। वर् 2014 में पेट्रोल की दर लगभग 71 रुपये और डीजल लगभग 55 रुपये प्रति लीटर थी जबकि वर्ष 2018 में डीजल की दर 69 रुपये प्रतिलीटर है। पिछले चार सालों में पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 105 प्रतिशत और डीजल पर 400 प्रतिशत से अधिक बढ़ाई गई है। भाजपा जब सत्ता में आई थी और घरेलू गैस की कीमत लगभग 400 रुपये प्रति सिलेंडर थी जो अब बढ़कर 800 रुपये प्रतिसिलेंडर हो गई है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। व्यापारी दुकान पर सुरक्षित नहींलड़कियां स्कूलों  कॉलेजों में सुरक्षित नहीं और आम आदमी घर में सुरक्षित नहीं है। आए दिन दिहाड़े फिरौती मांगने की घटनाएं सामने रही हैं।
इस मौके पर ललित बंसलरामजीत भाटीदेवेन्द्र तेवतियासुरेश मोरामशरण रौतेलारिछपाल लाम्बाविनोद गोस्वामीमाअमीचन् पनहेड़ाअजित भाटीसोहन लाल तंवरअनिल खुटेलानितिन सिंघलालखन बेनीवालदेवी सिंहतेवतियाफॉरेन सिंहरामरतन सिंह  विरेन्द्र सिंह इत्यादि मौजू रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: