Monday, September 3, 2018

दलित महिला ने गांव में चस्पाए आत्महत्या करने के पोस्टर,छेडख़ानी का आरोप, पुलिस जिम्मेदार


फरीदाबाद-03सितंबर(abtaknews.com)थाना छायंसा क्षेत्र में एक दलित महिला ने छेडखानी के बाद न्याय की गुहार लगाते हुए गांव मोहना और पुलिस थाने के आसपास आत्मदाह करने की धमकी देने के पोस्टर लगाए है। प्रशासन में सुनवाई ना होने पर महिला ने मिडिया से न्याय की उम्मीद भी जताई है। पीडित महिला का आरोप है कि गांव के दबंगों ने उसका जीना मुहाल कर दिया है। वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर रखा है, लेकिन आरोपी भी पुलिस की पकड से बाहर हैं। वहीं आरोपी का कहना है कि गांव की पार्टी बाजी के चलते ही यह सब किया जा रहा है। वहीँ आरोपी दबंग लोग अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को निराधार बता रहे है।
मोहना गांव की एक महिला ने आत्मदाह से धमकी भरे पोस्टर दीवार पर चस्पा दिये हैं। दरअसल यह महिला दलित है और इसका आरोप है कि पुलिस ने दबंगों के दबाव में आकर उसके 9 साल के बच्चे को ना केवल पिटवाया बल्कि उसके पति के साथ मारपीट की और उसकी भी कोई सुनवाई नहीं की। महिला की मानें तो उसके बच्चे हैं पति के साथ मारपीट की। महिला का आरोप है कि इन दबंग लोगों ने उसके साथ छेड़छाड़ भी की। महिला का आरोप यह भी है कि पुलिस ने इन दबंग लोगों के दबाव में आकर कोई कार्यवाही नहीं की है और आरोपी खुले आम घूम रहे हैं। मामले के आरोपी बहादुर सिंह का कहना है कि महिला द्वारा लगाए गए सभी अराोप निराधार है और यह सब गांव में पार्टी बाजी के चलते ही किया जा रहा है।इनका यह भी कहना था कि यह महिला इस तरह के आरोप लगाकर दुसरे लोगों को फंसाती है और बाद में फैसला कर लेती है।थाना छायंसा के एसएचओ कुलदीप सिंह ने बताया कि महिला ने जो शिकायत दी थी उस पर मामला दर्ज किया हुआ है लेकिन इस मामले की जांच एसीपी कर रहे हैं और जांच में जो भी सामने आएगा उसी के अनुसार  कार्यवाई की जाएगी। 



loading...
SHARE THIS

0 comments: