Saturday, August 18, 2018

युवा आगाज की भूख हड़ताल के दूसरे दिन जसवंत पंवार के समर्थन में चार छात्र भी भूख हड़ताल पर




फरीदाबाद-18 अगस्त(abtaknews.com)छात्र हित के लिए आंदोलन चला रही युवा आगाज ने नेहरू कॉलेज में 20 फीसदी सीटें बढ़ाने की मांग को लेकर शुरू की गई भूख हड़ताल का आज दूसरा दिन है। भूख हड़ताल के दूसरे दिन जसवंत पंवार के समर्थन में अजय डागर, अर्जुन, मनोज, चंद्रपाल भी भूख हड़ताल पर

















बैठ गए हैं। विगत तीन सप्ताह से दाखिले से वंचित छात्रों की लड़ाई लड़ रहे युवा आगाज संगठन ने अपने आंदोलन को और मुखर कर दिया हैं। सीट बढ़ाने के नाम पर सिर्फ बी कॉम कोर्स में 10 फीसदी सीट बढाकर कॉलेज प्रशासन एवं प्रदेश की सरकार ने छात्रों के साथ धोखा किया है।  छात्र और संगठन सभी कोर्सों में 20 फीसदी सीट बढ़ाने की मांग पर अड़े हुए हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा छात्रों के दाखिले हो जाएं। शहर की सामाजिक संस्थाएं संस्कार फाउंडेशन, कारवां एक कदम सहित प्रखर समाजसेवी बाबा रामकेवल ने छात्रों की भूख हड़ताल का समर्थन करते हुए सरकार से इस मामले के जल्द समाधान की मांग की हैं।  


युवा आगाज संगठन द्वारा उद्योग एवं पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल के सेक्टर 16 स्थित कार्यालय पर  चल रही भूख हड़ताल को आज दूसरा दिन है। संगठन के संयोजक जसवंत पंवार भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं उनके समर्थन में नेहरू कॉलेज के छात्र भी धरना स्थल पर मौजूद रहे। छात्र नेता अजय डागर ने कहा कि सरकार और कॉलेज प्रशासन हमारी मांग जल्द से जल्द पूरे करे। श्री डागर ने कहा कि यदि भूख हड़ताल पर बैठे हमारे छात्र  नेताओं और युवा साथियों को कुछ हुआ तो इसकी जिम्मेवारी भाजपा सरकार की होगी। 

भूख हड़ताल के समर्थन में आये आंदोलनकारी छात्रों ने कहा कि कॉलेज में सभी कोर्सों में 20 फीसदी सीट बढ़ाने की मांग को शीघ्र मानकर सैंकड़ों छात्रों के भविष्य को ख़राब होने से बचाए। उपरोक्त मांग के लिए युवा आगाज संगठन ज्ञापन और धरने-प्रदर्शन दे चुका है।  भूख हड़ताल पर बैठे युवा आगाज संगठन के संयोजक जसवंत पंवार को समर्थन देने पहुंचे  प्रखर समाजसेवी बाबा रामकेवल, संस्कार फाउंडेशन से परमिता चौधरी,












कारवां एक कदम संस्था से ज्योति भाटिया सतीश चोपड़ा ने समर्थन दिया। इसके अलावा छात्र नेता अजय डागर, अर्जुन, मनोज, चंद्रपाल, हिमांशु, संजीव अत्रि, तरुण विशेष रूप से मौजूद रहे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: