Tuesday, August 7, 2018

एसोसिएशन फॉर ओवरसीज टेक्निकल कॉरपोरेशन और जापान मिलकर पीएम मोदी के सपने करेंगे साकार

Association for Overseas Technical Corporation and Japan jointly dream of PM Modi

फरीदाबाद(abtaknews.com)सेक्टर 21 सी पार्क प्लाजा में एसोसिएशन फॉर वर्सेस टेक्निकल कॉर्पोरेशन और जापान से आए प्रतिनिधियों के बीच महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया।इसमें दोनों देशों के बीच व्यापार  संबंधों को गति देने और युवा उद्योगपतियों को एक प्लेटफार्म के तहत एक मंच पर लाकर उन्हें तकनीकी रूप से दक्ष बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई।  इसका आयोजन
ओट्स एलुमनाई सोसाइटी दिल्ली ने किया था ।इस मौके पर उद्योग क्षेत्र में दोनों देशों के बीच व्यापार को गति देने में सहयोग देने वाले उद्योगपतियों को सम्मानित भी किया गया।  इस मौके पर ओट्स एलुमनाई सोसाइटी दिल्ली के अध्यक्ष मिस्टर मनमोहन और आरके गुप्ता ने आए सभी उद्योगपतियों का बुके देकर स्वागत किया। और उद्योग जगत से जुड़े सदस्यो को अवॉर्ड मिलने पर हार्दिक बधाई दी। जापान से आए डेलीगेट ओट्स के जी नकाजिमा ने युवाओं को बेहतर ढंग से प्रशिक्षित करने और प्रेरित करने के लिये धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि भारत और जापान के बीच घनिष्ठ संबंध दोनों देशों के लंबे इतिहास की गहराई से जुड़े हैं. ऐसे कार्यक्रम संबंधों को और मजबूती देती है । 
इस अवसर पर सेक्टर 21 डी जीबीएन सीनियर सेकंडरी स्कूल की  प्रिंसिपल अनिता सूद की उपस्थित में बच्चों ने राजस्थानी लोक नृत्य प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। वहीं जापान से आये डेलीगेट ने बच्चों की हौसला अफजाई की और उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। कार्यक्रम में चीफ गेस्ट ओट्स चेन्नई सोसायटी से आए एम.एम  रंगानाथन ने बताया कि इस तरह के प्रोग्राम से रचनात्मकता आती है तकनीकी रूप से दक्ष होते हैं साथ ही दोनों देशों के बीच एक ब्रिज बनता है जिससे व्यापार के लिए फीलगुड का माहौल बनता है। इस मौके पर जापान ओट्स के प्रतिनिथि के जी नकाजिमा, वाई सुज़ुकी और एच कांडा का एलुमनाई सोसाइटी दिल्ली के अध्यक्ष मिस्टर मनमोहन और आरके गुप्ता ट्रॉफी देकर सम्मानित किया। एलुमनाई नाट्स के अंत में नवीन सूद, प्रदीप सूद विजी टूल्स ,महारानी पेंट के बी आर भाटिया, विक्टोरा ऑटो के एच एस बांगा, जगजीत सिंह इम्पीरियल ऑटो , राकेश विज, नरेश चावला, आर के गुप्ता को समानित किया गया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: