Friday, August 3, 2018

महिला को नहीं मिला थाने में इंसाफ तो जहर खाकर पहुंची महिला थाने,मौत


फरीदाबाद 03अगस्त(abtaknews.com)महिला द्वारा अपने उत्पीडन की शिकायत महिला थाना बल्लभगढ में देने के बाद भी न्याय ना मिलने से परेशान पीडित महिला थाने के बाहर जहर खाकर थाने में पहुंची। उसके बाद पुलिस ने पीडित महिला के अस्पताल में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान करा दिए जिसमें महिला ने अपने केा न्याय ना मिलने के चलते जहर खाने की बात कही है। इस बात की पुष्टि जिला पुलिस पीआरओ सूबे सिंह ने जारी बयान में की है। वहीं परिजनों का आरोप है कि महिला ने थाने के अंदर जहर खाया था। 
फरीदाबाद पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह के अनुसार सिविल अस्पताल बादशाह खान में मृतक महिला का पति व अन्य परिजन उसका शव लेने पहुंचे। असल में रूखसाना उर्फ सपना नाम की महिला की शादी चार साल पहले गांव मधावली निवासी अमित के साथ हुई थी लेकिन किसी बात को लेकर रूखसाना की अमित के साथ अनबन हो गई इसी बीच रूखसाना गांव के फिरे नामक युवक के संपर्क में आ गई और उसने उसको शादी का झांसा देकर लगभगए एक साल तक रूखसाना का शोषण करता रहा लेकिन उससे शादी नहीं की जिसके बाद उसने महिला थाना में उसके खिलाफ शिकायत दे दी। लेकिन थाने में समझौते के लिए फिरे व अमित और रूखसाना की पुलिस ने काऊसंलिग कराई जिसमें लिखित में समय मांगा जिसके दो दिन बाद महिला ने आईओ को फोन पर बताया कि वह इस फैसले से खुश नहीं है और वह आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराना चाहती है लेकिन दो अगस्त को तीन बजे पीडिता महिला जहरीला पदार्थ खाये हुए थाने में उल्टियां करती हुई पाई जाती है। पुलिस के अनुसार महिला थाने की पुलिस ने पीडित महिला को सरकारी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया जहां से उसे उसका पहला पति एक निजी अस्पताल में ले गया जहां पर उसकी मौत हो गई। पीआरओ सूबे सिंह के अनुसार महिला की मरने से पहले मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान भी कराए गए थे। 

मृतका के पति अमित नें बताया कि उसकी पत्नी ने थाने में जहर खाया था उसके पास किसी पुलिस कर्मी का फोन आया था की उसकी पत्नी थाने में उल्टिंया कर रही हैं। जिसके बाद उसे अस्पताल में पहुंचने की बात कही गई। मुझे पता नहीं है कि क्यों जहर खाया है लेकिन कंपलैंड दी थी उसके दबाब में उसने जहर खाया है। और उसके उपर भी पुलिस ने फैंसला करने के लिए दबाब बनाया था। पुलिस के अनुसार महिला के दो पति होने की पुष्टि कर रही है और आरोपी दूसरे पति के खिलाफ पुलिस ने महिला उत्पीडन का मामला दर्ज भी किया है लेकिन महिला ने मरने से पहले अपने आईओ से फोन पर कह दिया था कि वह आरोपी के साथ हुए फैंसले से खुश नहीं है और कार्रवाई चाहती है जिसके बाद महिला ने जहर निगल लिया। अब सोचने की बात है कि यदि पुलिस से महिला को न्याय मिलता तो क्या वह जहर निगल सकती थी? पीआरओ साहब पुलिस की पैरवी करते समय ये भी भूल गए कि क्या एक महिला के 2-2 पति हो सकते हैं?जबकि मृतका के परिजन उसकी दूसरी शादी से ही साफ तौर पर मना कर रहे हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: