Thursday, August 30, 2018

एनएसयूआई ने नेहरू कॉलेज के गेट पर जड़ा ताला, छह घंटे चला प्रदर्शन, भारी पुलिस बल रहा तैनात



फरीदाबाद-30 अगस्त(abtaknews.com) खट्टर सरकार हॉय-हॉय, तानाशाही नहीं चलेगी-नहीं चलेगी, खट्टर हमसे डरता है, पुलिस को आगे करता है जैसे नारे आज नेहरू कॉलेज पर लगातार छहघंटे तक कॉलेज के छात्र-छात्राओं से सुनने को मिले। एनएसयूआई प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में आज गुस्साए छात्र-छात्राओं ने सेक्टर-16 स्थित पं. जवाहर लाल नेहरू कॉलेज के गेट पर ताला जड़ दिया और कॉलेज के लगभग सभी छात्र-छात्राओं ने कक्षाओं का बहिष्कार किया। पिछले 25 दिन से दिन-रात एनएसयूआई का धरना प्रदर्शन जारी है। इसी कड़ी में आज कॉलेज के गेट पर ताला जड़ छात्र-छात्राओं ने कॉलेज गेट पर बैठ यूनिवर्सिटी और हरियाणा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कॉलेज के गेट पर ताला लगाने के समय एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री और पुलिस के बीच तीखी बहस भी हुई। लगातार छह घंटे तक कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने धूप में बैठकर नारेबाजी लेकिन उसके बावजूद कोई भी प्रशासनिक अधिकारी उनसे मिलने नहीं पहुंचा।
एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि वह पिछले 25 दिन से कॉलेज के समक्ष धरने प्रदर्शन पर बैठे हुए हैं लेकिन सरकार उनकी मांगों को नहीं मान रही। उन्होंने कहा कि आज इसी बात से नाराज होकर कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज के गेट पर ताला जडऩे का मन बनाया और कक्षाओं का बहिष्कार कर कॉलेज के गेट पर ताला जड़ दिया। लगातार छह घंटे तक छात्र-छात्राएं धूप में बैठे रहे लेकिन उसके बावजूद भी सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। 
कृष्ण अत्री ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन छात्रों का संगठन है जोकि छात्र हितों के मुद्दो को उठाता आया है लेकिन खट्टर सरकार छात्रों के साथ अपराधियों की तरह व्यवहार कर रही है। आज भी कॉलेज पर इतनी बड़ी भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद था जैसे वहां छात्र नहीं बल्कि आपराधिक प्रवृति के लोग एकत्र हो। उन्होंने कहा कि खट्टर सरकार छात्र विरोधी सरकार है। इसका खामियाजा उन्हें आने वाले दिनों में भुगतना पड़ेगा। 
अत्री ने अपनी मांगों के बारे में बताते हुए कहा कि भाजपा सरकार छात्रों के भविष्य व जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है। कॉलेज की बिल्डिंग इतनी जर्जर है कि कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है और छात्र-छात्राओं की जान भी जा सकती है। वहीं कॉलेज आने के लिए हाईवे पर फुटओवर ब्रिज न होने के कारण आए दिन वहां हादसे होते रहते हैं। कॉलेज में मूलभूत सुविधाएं भी उपलब्ध नहीं हैं। कॉलेज में पढऩे वाली छात्राओं की भी सुरक्षा नहीं है। सैमेस्टर प्रणाली ने विद्यार्थियों की शिक्षा का स्तर गिराने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कॉलेजों में यूजी, पीजी कक्षाओं में 20 प्रतिशत सीट बढ़ाने, छात्रसंघ चुनाव बहाल तथा प्रत्यक्ष रूप से बहाल कराने, फरीदाबाद में रीजनल सेंटर बनवाने जैसी सभी मांगे छात्र हितों की है। वह हमेशा छात्र हितों के लिए लड़ते आए हैं और लड़ते रहेंगे। 
भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन की प्रमुख मांगे इस प्रकार है -
1) सभी सरकारी कॉलेजों में यूजी, पीजी कक्षाओ में 20 प्रतिशत सीट बढ़ाने के लिए।
2) छात्रसंघ चुनाव बहाल तथा प्रत्यक्ष रूप से बहाल करनेके लिए।
3) फरीदाबाद में रीजनल सेंटर बनवाने के लिए।
4) नेहरू कॉलेज की जर्जर पड़ी इमारत का निर्माण करानेके लिए।
5) सभी सरकारी कॉलेजो में मूलभूत सुविधाएं एवं स्टाफपूरा कराने के लिए।
6) मैगपाई चौक पर छात्रों को रोड पार कराने के लिएफुटओवर ब्रिज का निर्माण जल्द कराने के लिए।
7) सैमेस्टर प्रणाली बंद हो।
8) प्रत्येक कॉलेज में छात्रों के लिए वूमैन सेल का गठन।
इस मौके पर जिला महासचिव चेतन , नेहरू कॉलेज उपाध्यक्ष अभिषेक, आरिफ खान, मोहित चंदीला, गौरव कौशिक, सोनू सिंह, विक्रम यादव, मोहित गर्ग, देव चौधरी, मनीष, रवि रावत, जेपी, प्रशांत, कन्हैया, योगेश, मनीष सिडोला, अनिल, सूरज सिंह, राहुल, विकास, शिवम, शैंकी, प्रवेश, राहुल, मोहन, अशोक, तरुण, देवेंद्र, नवीन, लक्ष्मण, आकाश, सीमा, खुशबू चौधरी, राखी, ज्योति, हेमा, रीना, श्वेता, रिंकी, शिल्पा, सुनीता, उर्वशी, बिमला, ललित गौतम, उमेश, सोनू सैनी, राज आदि मौजूद थे।
---------------------------------

loading...
SHARE THIS

0 comments: