Wednesday, August 29, 2018

वाईएमसीए विश्वविद्यालय में बिग साइंस तथा बिग डाटा एनालिटिक्स’ विषय पर एक सप्ताह का कार्यक्रम प्रारंभ


फरीदाबाद 29 अगस्त(abtaknews.com)वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद के इंडस्ट्री रिलेशन्स सेल, मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग तथा कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के संयुक्त तत्वावधान तथा आईसीटी अकादमी के सहयोग से ‘बिग साइंस तथा बिग डाटा एनालिटिक्स’ विषय पर आयोजित एक सप्ताह के फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम का उद्घाटन आज कुलपति प्रो. दिनेश कुमार द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम के माध्यम से विश्वविद्यालय द्वारा डाटा साइंस जैसे उभरते क्षेत्र में शिक्षकों को प्रशिक्षण करने की पहल की गई है। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय व अन्य शिक्षण संस्थानों के 50 प्रतिभागी हिस्सा ले रहे है।

इस अवसर पर डीन (इंस्टीट्यूशन्स) डाॅ. संदीप ग्रोवर, मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डाॅ. तिलक राज, कम्प्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डाॅ. कोमल कुमार भाटिया तथा आईटी विभाग के अध्यक्ष डाॅ. अतुल मिश्रा उपस्थित थे।इस अवसर पर संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने प्रतिभागियों को नई उभरती तकनीकों को सीखने के प्रति रूचि रखने के लिए प्रेरित किया तथा कहा कि नई उभरती प्रौद्योगिकी में रोजगार व अनुसंधार के लिए व्यापक संभावनाएं है। उन्होंने दिनचर्या में डाटा साइंस तथा बिग डाटा एनालिसिस के उपयोगिता पर बल दिया और कहा कि उभरती नई तकनीकों को लेकर ज्ञानवर्धन में ऐसे कार्यक्रम अहम साबित होते है। 
सत्र को संबोधित करते हुए डाॅ. तिलक राज ने प्रतिभागियों को डाटा साइंस के ऐतिहासिक विकास के बारे में बताया तथा इस उभरती तकनीक के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा परियोजनाओं पर कार्य करने के लिए प्रेरित किया।
सत्र को संबोधित करते हुए डाॅ. संदीप ग्रोवर ने ग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर विद्यार्थियों को नई तकनीकों से अवगत करवाने के लिए ऐसे कार्यक्रम आयोजित करने पर बल दिया ताकि विद्यार्थी नये क्षेत्रों में रोजगार की संभावनाओं को तलाश सके। कार्यक्रम के संयोजक डाॅ. संजीव गोयल व डाॅ. रश्मी पोपली ने बताया कि कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य प्रतिभागियों को बिग डाटा व डाटा विश्लेषण की परियोजनाओं पर प्रेक्टिकल प्रशिक्षण उपलब्ध करवाना है ताकि वे नई तकनीक को बेहतर ढंग से समझ सके।

loading...
SHARE THIS

0 comments: