Friday, August 24, 2018

छात्रों का नहीं बल्कि खट्टर सरकार की नाकामियां का हुआ मुंडन,धरना 19वें दिन भी जारी



फरीदाबाद-24 अगस्त(abtaknews.com)एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में चल रहे अनिश्चितकालीन रने के 19वें दिन आज एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने विरोध स्वरूप हरियाणा भाजपा सरकार की अर्थी फूंक दी औरएनएसयूआई के पांच कार्यकर्ताओं ने मुंडन कराया। साथ ही हरियाणा भाजपा सरकार  यूनिवर्सिटी के खिलाफ नारेबाजी भी की ई। एनएसयूआई प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने बताया कि पिछले 19 दिनों से वह और उनकेसाथी शांति पूर्वक यहां धरने प्रदर्शन पर बैठे हुए हैं लेकिन सरकार और यूनिवर्सिटी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि वह यहां धरने पर बैठ कर सिर्फ अपने लिए किसी सुविधा की मांग नहीं कर रहे बल्कि छात्रहितों की लड़ाई लड़ रहे हैं। 
कृष्ण अत्री ने बताया कि आज उन्होंने हरियाणा भाजपा सरकार की र्थी को इसलिए जलाया है क्योंकि हरियाणा में भाजपा सरकार के कार्यकाल का यह आखिरी साल है और ने वाले दिनों में

युवा भाजपा का बहिष्कार करउन्हें उनकी सही जग दिखाएंगे। इतना ही नहीं एनएसयूआई ने आज भाजपा सरकार की अर्थी जलाने से पहले मुंडन भी कराया है उन्होंने कहा कि इतिहास ने एक बार फिर अपनेआप को दोहराया है। 3 साल पहले भी इसीदिन 24 अगस्त 2015 को एनएसयूआई ने मुंडन कराकर भाजपा सरकार के प्रति विरोध जताया था। उस समय भी एनएसयूआई ने रीजनल सेंटर बनानेसैमेस्टर प्रणाली खत्म करने और कॉलेज में छात्र-छात्राओं को मूलभूतसुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग की थी।  समय सरकार ने छात्रों को बरगलाते हुए झूठा आश्वासन देकर एनएसयूआई का धरना प्रदर्शन  भूख हड़ताल खत्म कराई थी लेकिन आज तीन साल बीतने के पश्चात भी उनमांगों को पूरा नहीं किया गया जिस कारण एक बार फिर एनएसयूआई को छात् हितों के लिए सडक़ पर धरना प्रदर्शन के लिए बैठना पड़ा है।
अत्री ने बताया कि वर्ष 2016 से कॉलेज की जर्जर बिल्डिंग का मामला एनएसयूआई उठाती आई है। इस मामले में हरियाणा के केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने इसकी मरम्मत कराने को कहा था। इतना ही नहीं कॉलेज कीप्रिंसिपल भी अपने उच्चाधिकारियों को इस बारे में कई बार अवगत करा चुकी हैं लेकिन अभी तक इस दिशा में भी कोई काम नहीं हुआ। भाजपा सरकार कॉलेज में को बड़ा हादसा होने का इंतजार कर रही है।
कृष्ण अत्री ने अपनी 20 प्रतिशत सीटों में वृद्धि वाली मांग के बारे में बताते हुए कहा कि एनएसयूआई पिछले दो महीनों से यूजी-पीजी कक्षाओं में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने की मांग कर रही है लेकिन सरकार के कान पर जूं तकनहीं रेंग रही। उन्होंने कहा कि हरियाणा के केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने 23 जुलाई को यूनिवर्सिटी को 20 प्रतिशत सीट वृद्धि के लि एक पत्र भी लिखा था लेकिन फिर भी कुछ नहीं हुआ। अत्री ने कहा कि जब अधिकारीकेबिनेट मंत्री की भी नहीं सुन रहे तो फिर छात्रों की कैसे सुनेंगेइसका अंदाजा स्वयं ही लगाया जा सका है। इसके अलावा फुटओवर ब्रिज बनाने की मां पर भी पिछले साल अक्टूबर 2017 में उपायुक्त ने छह महीने मेंफुटओवर ब्रिज बनाने का आश्वासन दिया था लेकिन एक साल बीतने के पश्चात भी वह अभी तक बनना शुरू नहीं हुआ।
उन्होंने कहा कि भाजपा ने हरियाणा में चुनावों से पूर्व  छात्रों को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखाए परंतु सत्ता में आने के बाद छात्रों से किए एक भी वायदे को पूरा नहीं किया। यही कारण है कि न्हें छात्रों को अपनी पढ़ाई छोड़ धरने परबैठने को मजबूर होना पड़ रहा है। भाजपा सरकार की मंशा केवल और केवल छात्रों के हितों की अनदेखी करनी की है और इसलिए यह सरकार तानाशाही रवैया अपना छात्रों के हकों पर कुठाराघा कर रही है।
मुंडन कराने वालों में एनएसयूआई हरियाणा प्रदेश सचिव कृष्ण अत्रीछात्र नेता दिनेश कटारियागौरव कौशिकमनीष कुमारअंकित कश्यप शामिल हैं।
छात्र नेता दिनेश कटारियागौरव कौशिकमनीष कुमारअंकित कश्यप ने संयुक्त रूप से एनएसयूआई द्वारा की जा रही 8 मांगों के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि यह सभी मांगें छात्र-छात्राओं का हक हैंइसलिए यहसुविधाएं उन्हें मिलनी ही चाहिए। मांगे इस प्रकार हैं।
1) सभी सरकारी कॉलेजों में यूजीपीजी कक्षाओ में 20 प्रतिशत सी बढ़ाने के लिए।
2) छात्रसंघ चुनाव बहाल तथा प्रत्यक्ष रूप से बहाल करने के लिए।
3) फरीदाबाद में रीजनल सेंटर बनवाने के लिए।
4) नेहरू कॉलेज की जर्जर पड़ी मारत का निर्माण कराने के लिए।
5) सभी सरकारी कॉलेजो में मूलभू सुविधाएं एवं स्टाफ पूरा कराने के लिए।
6) मैगपाई चौक पर छात्रों को रो पार कराने के लिए फुटओवर ब्रि का निर्माण जल्द कराने के लिए।
7) सैमेस्टर प्रणाली बंद हो।
8) प्रत्येक कॉलेज में छात्रों के लिए वूमैन सेल का गठन।
इस मौके पर वोटर्स पार्टी के प्रदेश संयोजक सहीराम रावतजिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रानेहरू कॉलेज उपाध्यक्ष अभिषेक वत्सविक्रम यादववीरूअंकितरोहित चौहानकृष्णशैंकीकन्हैयापरवेज़ खानयोगेश रॉयराहुल सुभानारिंकू तेवतियादेवेन्द्र चौधरीउमेशसाहिलशिवमअतुनागेश्वरराजू कुमारसुधीरराहुल वर्माअमन शर्मारवि रावतदुष्यंत पाराशरसोनू सिंसोनू सैनीनवीन चौधरीराजू कुमारलक्ष्मणसूरजसिंह आदि मौजूद थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: