Monday, July 30, 2018

भाजपा ईटिंग मीटिंग चीटिंग की सरकार, किसानों की मांगे मानी तो कांग्रेस को देंगे समर्थन : अम्बावता

BJP's Eating Meeting Cheating Govt, Farmers' Demand Will Soon to Support Congress: Ambawati

 फरीदाबाद(abtaknews.com)भारतीय किसान यूनियन (अ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अम्बावता ने कहा देश के किसान की हालत पहले से ज्यादा खराब हुई है। वर्तमान मोदी सरकार किसान विरोधी है, और पिछले 4 वर्ष में केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकारों ने किसानों को केवल झूठे सपने दिखाए हैं। वह योजनाएं बनाने के लिए मीटिंग करते हैं। जनता के पैसेे उडाते हैं, और फिर आगे के झूठे सपने दिखाते हैं, इसलिए भाजपा केवल ईटिंग मीङ्क्षटग और चीटिंग की सरकार बनकर रह गई है। उन्होने कहा भाकियू ने पीएम मोदी को 4 पत्र भेजे ताकि किसानों की मांगों को सरकार के समक्ष रखा जा सके मगर पीएम ऑफिस से एक पत्र का भी जवाब नहीं आया। इसी प्रकार यू पी के मुख्यमंत्री योगी को 2 बार पत्र भेजे उन्होने भी किसानों से मिलने का कोई समय नहीं दिया। इससे पता चलता है कि भाजपा गरीब की नहीं केवल अमीर की चिंता करती है। उन्होने कहा अब भाजपा की राजनीति समझ गया है, और किसान ही भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेगा।
अम्बावता ने कहा कांग्रेस ने किसानों के लिए कई योजनाएं बनाई हैं, मगर उन योजनाओं से किसानों की समस्याएं समाप्त नहीं हुई। कांग्रेस ने किसानों की मुख्य मांगों को अब तक नहीं माना है। उन्होने कहा भाकियू ने सभी किसान संगठनों की सहमति से कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को चिटठी लिखकर सूचित किया है और मांग की है कि यदि कांग्रेस अपने चुनाव मैनुफैस्टो में किसानों की मुख्य 5 मांगों को रखती है तो आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में भाकियू कांग्रेस को समर्थन करने पर विचार करेंगी।  
अम्बावता ने कहा आगामी 10 अगस्त को दिल्ली में किसान महापंचायत होने जा रही है इस महापंचायत में निम्र 5 मांगों को कांग्रेस के समक्ष रखा जाएगा।  जैसे देश के किसान का कर्जा माफ हो, 2. स्वामी नाथन रिर्पाेट लागू हो, 3. किसान आयोग का गठन, 4. किसान को बिजली कनेक्शन मुफ्त और बैंक लोन पर सब्सीडी मिले। 5. किसान को बुढापा पेंशन 3 हजार रू पये मिले। 
अम्बावाता ने कहा 20 राज्यों से हजारों किसान नेता इस महापंचायत में भाग लेंगे। जबकि पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद यादव व पूर्व केन्द्रीय मंत्री एंव उडिसा के दलित नेता भजवन बेडा, जम्मू कश्मीर से किसान नेता प्रौ. भीमसिंह, एमपी से आशा तिवारी, इलाहाबाद से पूर्व सांसद राम निगोर राकेश, राघुनाथ दादा पाटिल, महाराष्ट्र से विनायक पाटिल, पंजाब से सतनाम सिंह बैहरू, गुजरात से रवि पटेल, राजस्थान से बलबीर छिल्लर, दिल्ली से सुरेश छिल्लर, हरियाणा से शमशेर सिंह दहिया, उत्तर प्रदेश से लाल बहादुर यादव मुख्य रूप से मौजूद होंगे। 
अम्बावता ने कहा कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला भी 10 अगस्त को महापंचायत में आ सकते हैं। उन्होने कहा यदि कांग्रेस किसानों की मांगों को नहीं मानती तो आगामी 2 अक्टूबर को पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्म दिवस पर दिल्ली में होने वाली भाकियू की वार्षिक किसान महापंचायत में लोकसभा चुनाव के लिए सर्वसम्मति से निर्णय लिया जाएगा। उन्होने कहा समाजसेवी अन्ना हजारे भी उनको अपना समर्थन दे चुके हैं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: