Tuesday, July 10, 2018

गैंगरेप पीडिता ने शुरू की भूखहडताल, मेरी मौत के जिम्मेदार होगी महिला आयोग व पुलिस

Gangrape victim started hunger strike, responsible women commission and police responsible for my death

फरीदाबाद (abtaknews.com) 10 जुलाई,2018; पिछले 22 दिनों से फरीदाबाद के बीके चौक पर परिवार के साथ धरना दे रही गैंगरेप पीडिता ने 23वें दिन अनशन शुरू कर दिया है, पीडिता ने चेतावनी दी है कि वह एक साथ आत्महत्या नहीं करना चाहती, अब वह भूखहडताल पर बैठकर पूरे समाज के सामने तिल - तिल करके अपनी जान देगी, जिसकी जिम्मेदार महिला आयोग, पुलिस प्रशासन होगा। बता दें कि जनवरी में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था 6 महीने बीत जाने के बाद भी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

घूंघट में पीड़ित हिला बीके चौक पर टेंट लगाकर पिछले 22 दिनों से न्याय मांगने के लिये धरना दे रही है, जिसके साथ दो बच्चे और पति पर भी धरने पर है, धरने के चलते बच्चों की पढाई छूट गई है और पति की नोकरी, पूरी तरह से जीवन अस्त - व्यस्त हो जाने के बाद भी इस  पीडिता की बात न तो महिला आयोग सुन रही है और न ही पुलिस। इसलिये अब महिला ने धरना स्थल पर ही 23वें दिन भूखहडताल शुरू कर दी है।

पीडिता ने बताया कि जनवरी के महीने में उसके साथ गैगरेप हुआ था उसके बाद न्याय के लिये उसने चक्कर पर चक्कर लगाये न्याय न मिलने से परेशान होकर उसने बीके चौक पर धरना शुरू कर दिया, मगर 22 दिन बीत जाने के बाद न तो महिला आयोग ने सुध ली और न ही पुलिस प्रशासन की ओर से कोई संदेश आया, इसलिये अब उसने फैंसला लिया है कि वह अब समाज के सामने एक साथ अत्महत्या करके मरने की बजह रोजाना तिल - तिल करके मरेगी,, जिसके लिये उसने भूखहडताल शुरू कर दी है, उसकी मौत की जिम्मेदार महिला आयोग और पुलिस प्रशासन होगा।

समर्थन देने पहुंचे अनशनकारी बाबा रामकेवल ने कहा कि कुछ लोग और पुलिस मान रही है कि महिला झूठे आरोप लगा रही है मामला झूठा है, वह उन लोगों के साथ भी है अगर मामला झूठा है तो महिला को सजा होनी चाहिये, पुलिस कार्यवाही करे अगर मामला झूठा पाया जाता है तो सभी संस्थायें खुद पीडित महिला को पुलिस को सोंपेगी। इतना ही नहीं धारा 182 की कार्यवाही के लिये भी उन्होंने बैनर पर लिखा हुआ है।




loading...
SHARE THIS

0 comments: