Tuesday, July 10, 2018

निजी शिक्षण संस्थानों को फायदा पहुंचाने का कार्य कर रही है एमडी यूनिवर्सिटी : जसवंत पंवार

MD University is working to benefit private educational institutions: Jaswant Panwar
फरीदाबाद (abtaknews.com)MDU के 50% वाले आदेश से नाराज फरीदाबाद के सबसे बड़े सरकारी कॉलेज पंडित जवाहर लाल नेहरु महाविध्यालय में युवा आगाज से छात्र नेता अजय डागर नेहरु कॉलेज प्रेसिडेंट के नेतृत्व में सैंकड़ों छात्रों ने आज कॉलेज के मेन गेट के बाहर वाईस चांसलर बिजेंदर कुमार पुनिया का पुतला फूंका! MDU के नए आदेश से नाराज नेहरु कॉलेज के छात्र लगातार अपना विरोध जाता रहे हैं! छात्रों का कहना है इस आदेश की वजह से बहुत से छात्रों का भविष्य ख़राब हो जायेग! पिछले एक हफ्ते से लगातार सभी छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और इस आदेश के खिलाफ शिक्षा मंत्री, उद्योग मंत्री, सिटी मजिस्ट्रेट और नेहरु कॉलेज की प्रिंसिपल इन सभी सभी को ज्ञापन भी दिया है! युवा आगाज संगठन के संयोजक जसवंत पंवार ने कहा की MD यूनिवर्सिटी निजी शिक्षण संस्थानों को फायेदा पहुंचाने का कार्य कर रही है! 
MD University is working to benefit private educational institutions: Jaswant Panwar
जिसका ताजा उदहारण है ये 50% वाला रूल, जिसको लेकर MD यूनिवर्सिटी फरीदाबाद में दोगला रवैया अपना रही है जो सभी छात्रों की नाराजगी का मुख्य कारण है की एक तरफ तो MDU की तरफ से ये आदेश दिया जाता है की 50% सब्जेक्ट से ज्यादा पास वाले छात्रो को ही कॉलेज में दाखिला दिया जाएगा मगर शहर के दो बड़े प्राईवेट कॉलेज इस आदेश के बावजूद भी दाखिला दे रहे हैं! एक ही युनिवर्सिटी के सरकारी और प्राइवेट कॉलेजों के लिए अलग-अलग नियम क्यूँ बनाये जा रहे हैं! MDU  सरकारी कॉलेजों में पढने वाले गरीब छात्रों के साथ इतना भेदभाव क्यूँ कर रही है जबकि प्राईवेट कॉलेज में अधिकतर अमीर छात्र ही दाखिला लेते हैं! छात्र नेता अजय डागर ने कहा की अगर यूनिवर्सिटी ने जल्दी से जल्दी इस आदेश को वापस नहीं लिया तो ये विरोध प्रदर्शन और भी उग्र रूप ले सकता है जिसका जिम्मेदार MD यूनिवर्सिटी और प्रशासन होगा!आज के प्रदर्शन के समय युवा आगाज के संयोजक जसवंत पवारछात्र नेता अजय डागर, छात्र नेता संजीव अत्री, छात्र नेता अंकित शर्मा, मनोजसुनीलयोगेश,अभिषेकचंद्रपालअर्जुनआनंदहिमांशु भट्ट, पुष्कर यदुवंशीबलजीतपवनदीपकहर्षराजू शौरयाणपिंटूकमल भड़ानाकपिल शर्माअमनतरुणअरुण मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: