Wednesday, July 11, 2018

या तो झील भरे सरकार नहीं तो भैंसों के लिए बनाए चारागाह : धर्मबीर भड़ाना

Neither the lake-filled government nor the buffalo grasslands: to promote the Dharmabhir
फरीदाबाद(abtaknews.com) 11जुलाई,2018 : आम आदमी पार्टी के बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने बुधवार को हरियाणा जोड़ो अभियान के तहत बडख़ल झील का दौरा किया और बडख़ल झील में भैंस चराकर सरकार को घेरने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक ने चुनावों से पूर्व लोगों से वादा किया था कि चुनाव जीतने के बाद उनका सबसे पहला कार्य बडख़ल झील को भरवाना है। मगर 4 साल भाजपा सरकार को होने को आए हैं, अब तक सबसे पहला कार्य ही नहीं हुआ है, बाद के कार्य तो क्या होंगे। भड़ाना ने कहा कि अगर बडख़ल झील को भरवा दिया जाए तो, समस्त क्षेत्र में जो आज बिजली-पानी की गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है, उसका समाधान हो जाएगा। जल स्तर ऊपर आ जाएगा और जगह-जगह बोरवैल नहीं लगाने पड़ेंगे। धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि झील को भरने को लेकर सरकार की नीयत में खोट है, अगर सरकार वास्तव में झील को भरना चाहे तो यह बहुत बड़ा प्रोजैक्ट नहीं है। उन्होंने सुझाव दिया कि शहर में जगह-जगह सीवर ओवरफ्लो हो रहे हैं। आसपास के क्षेत्रों में सीवर के पानी की निकासी का कोई प्रबंध नहीं है, जो सैक्टर-48 में जाकर इकट्ठा हो रहा है। सरकार को चाहिए कि सीवर ट्रीटमेंट प्लांट लगाकर सीवरेज के पानी को बडख़ल झील में लाया जाए। इससे जहां बडख़ल झील भरेग, वहीं सैक्टर-48 वासियों को पानी की समस्या से निजात मिलेगी। आम आदमी पार्टी के बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि बडख़ल विधानसभा गांव के नाम से है, मगर जिस प्रकार इस गांव के बेकदरी हो रखी है, उससे लगता है कि सरकार जान-बूझकर गांव बडख़ल के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। बिजली-पानी जैसी मूलभूत चीजों को मांगने पर स्थानीय विधायक मुकद्दमे दर्ज करा देती है, ऐसी तानाशाही सरकार अंग्रेजी शासनकाल की याद दिलाती है। लोग अब तक समस्याओं को लेकर उनके पास जाने से भी डरने लगे हैं। इस अवसर पर संगठन मंत्री सुनील ग्रोवर एवं प्रभारी राजूद्दीन ने कहा कि कांग्रेस हो या बीजेपी सभी बडख़ल झील को भरने को लेकर राजनीति करती आई हैं, अगर कोई भी सरकार वास्तव में झील को भरना चाहती है, तो यह कोई मुश्किल काम नहीं है। इस मौके पर उनके साथ कुलदीप चावला, अमित ठाकुर, राजू पांचाल, मंजीत सैनी, नईम खान, सोनू, रफीक ठेकेदार, फज्जर खान, हुकमदीन, मनोज, कैप्टन सिरोही, राकेश पंडित, सुनील वत्स, शेर सिंह, विजय थपलियाल, फोरमैन, राव दलीप सिंह, सद्दाम, शहीद खान, फजर थानेदार, नूर मोहम्मद आदि मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: