Thursday, July 19, 2018

फरीदाबाद में नाबालिग नवविवाहिता का घर से अपहरण, गुरूग्राम में ले जाकर किया गैंगरेप


Gangrape by kidnapping minor minor in New Delhi, Faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com)19 जुलाई,2018; नाबालिग का घर से अपहरण कर गुरुग्राम  ले जाकर चार युवकों ने किया बलात्कार , गैंग रेप के बाद आरोपी नाबालिग लड़की को सोहना में गाड़ी से फेंक कर फरार हो गए । दिल दहला देने वाला यह मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद का है जहां पुलिस अब मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुटी है । 16 साल की नाबालिग लड़की अभी कुछ ही महीने पहले ही शादी हुई थी। पुलिस ने चार आरोपियों के खिलाफ 6 पोक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है लेकिन आरोपी अभी पुलिस की पकड से बाहर हैं। वहीं परिजन पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप भी लगा रहे हैं। 

नाबालिग युवती जिसका उसके परिजनों ने करीब एक माह पहले ही विवाह किया था और वह अपने परिजनों से मिलने के लिए अपने पिता के घर आई हुई थी। जिसके साथ उसी के गाँव चार युवकों ने अपहरण कर गुरुग्राम में ले जाकर गैंग रेप जैसी घिनौनी वारदात को अंजाम दिया। पीडिता ने बताया कि रात को जब वह अपने चार अन्य बहन भाईयों के साथ घर में सो रही थी तो उसी समय चार युवकों ने उसके मुंह में कपडा ठूंस कर चारपाई से उठा लिया और गाडी मेें डाल लिया। जब उसको होश आया तो आरोपी गुरूग्राम का जिकर कर रहे थे। उसके बाद उसके साथ सभी आरोपियों ने उसके साथ बलात्कार किया। इतना ही नहीं उसके गहने भी आरोपियों लूट लिए और उसको निर्वस्त्र जंगल में छोडकर फरार हो गए। उसके बाद उसने अपने पिता से जैसे तैसे संपर्क किया। 

पीड़िता के पिता नें बताया कि पुलिस सही कार्यवाही नहीं कर रही है और आरोपी खुले आम घूम रहे हैं। पिता के मुताबिक 6 लोग थे जो उसकी बेटी को लेकर गए थे उन्होंने उसका साथ गलत काम किया और उनके गहने भी छीन लिए। पिता और बेटी अब कानून से आरोपियों के लिए फांसी की मांग कर अपने लिए न्याय मांग रहे हैं। 

डीसीपी क्राईम लोकेन्द्र सिंह ने बताया कि चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। आरोपी युवती को उसके घर से सोते समय मुंह में कपडा ठुंस कर उठा ले गए और गुरूग्राम में ले जाकर उसके साथ बारी बारी बलात्कार कर उसे सोहना में छोड कर फरार हो गए। पुलिस जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कह रही है। 




loading...
SHARE THIS

0 comments: