Friday, July 6, 2018

छात्रों को लेकर अपना रवैया बदले खट्टर सरकार : कृष्ण अत्री


फरीदाबाद (abtaknews.com) 06 जुलाई ;एनएसयूआई फरीदाबाद ने प्रदर्शनो की कड़ी में कड़ी जोड़ते हुए एमडीयू के तुगलकी फरमान के खिलाफ प० जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के गेट पर हस्ताक्षर अभियान चलाया । हस्ताक्षर अभियान का आयोजन हरियाणा एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री की अध्यक्षता में किया गया ।

इस मौके पर प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि एमडीयू के तुगलकी फरमान के खिलाफ एनएसयूआई के बैनरतले छात्रों ने बिगुल बजा दिया है । आये दिन इस नियम को लेकर धरने प्रदर्शन एवं ज्ञापन सौंपे जा रहे है । उन्होंने कहा कि जैसे ही इस नियम के बारे में पता चला तो छात्रों ने एनएसयूआई छात्रनेताओं के साथ मिलकर 4 जुलाई को नेहरू कॉलेज की प्राचार्या श्रीमति प्रीता कौशिक को ज्ञापन सौंप कर अपना विरोध व्यक्त किया था तथा उससे अगले दिन 5 जुलाई को नेहरू कॉलेज के गेट पर  एमडीयू के तुगलकी फरमान की प्रतियां जलाकर यूनिवर्सिटी प्रशासन एवं खट्टर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की ।

अत्री ने बताया कि पिछले दिनों में किए गए प्रदर्शनों पर अभी तक किसी प्रशासनिक अधिकारी का कोई संतोषजनक बयान नही आया है । या तो खट्टर सरकार छात्रों को जानबूझकर अनदेखा कर रही है या फिर उन्हें छात्रों की शक्ति का अंदाजा नही है ।वहीं नेहरू कॉलेज अध्यक्ष मोहित त्यागी एवं जिला मीडिया कोऑर्डिनेटर अजित त्यागी ने नियम को दोहराते हुए संयुक्त रूप से कहा कि एमडीयू की तरफ से फिर इस बार तुगलकी फरमान आया है जिसके तहत तीसरे सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के 50% विषय मे तथा पाँचवे सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के 100% विषयों में पास होना अनिवार्य है । खट्टर सरकार को जल्द छात्रहितों में फैसला लेकर इस तुगलकी फरमान को वापिस लेना चाहिए ।

इस मौके पर जिला महासचिव रूपेश झा, विकास फागना, रोहित कबीरा, दिनेश कटारिया, अक्की पंडित, गौरव कौशिक, अभिषेक, आनंद, राहुल, ज्ञानदीप, अमित सिंह, अनिल, नीरज, योगेश, नितिन, रिंकू, नवीन, गोविंदा, अंकित खेरा, सदफ सिद्दीकी, बिंदु शर्मा, अर्पिता, सुजाता, पूजा आदि मौजूद थे ।


loading...
SHARE THIS

0 comments: