Saturday, July 7, 2018

विवेक मोन्ट्रोज 9 अगस्त अंतर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर भोपाल में करेंगे अपनी कला का प्रदर्शन


फरीदाबाद 7 जुलाई(abtaknews.com) बूमरैंग थ्रो करने वाले फरीदाबाद अशोका इन्कलेव निवासी विवेक मोन्ट्रोज 9 अगस्त को अंतराष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर वे भोपाल में इस कला का प्रदर्शन भी करने जा रहे है।विवेक मोन्ट्रोज़ देश के पहले बूमरैंग थ्रो करनेे वाले हैं जिन्हें न केवल इसे चलाना बल्कि तराशने की कला भी आती है। सर्वप्रथम उनके हाथ में यह पंजा यानि बूमरैंग उनकी आंटी ने ऑस्ट्रेलिया से ला कर दिया था, पर इसे उन्मुक्त रूप से 15 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया जाकर ही सीख और चला पाये, जिसके बाद वहां के चैंपियन तक को पछाड़ दिया। जिसका श्रेय वे अपने ऑस्ट्रेलिया के आदिवासी गुरु स्व. श्री केन कोलबंग को देते हैं।

विवेक बताते है कि बूमरैंग का प्रयोग आदिवासी शिकार और आत्मरक्षा के लिए करते थे। ये ठोस लकड़ी की बनती है और फेंकने की तकनीक भी विशेष हैं। उन्होने बतायाकि आज भी उनके अंदर इस खेल की कला को बढ़ाने और सिखाने का जज़्बा भरा है जिसके लिए वे निरंतर कार्यरत हैं। इसी सिलसिले में पिछले दिनो गुरूवार 5 जुलाई को भोपाल के आदिवासी कला केंद्र में आयोजित कार्यशाला में इसकी जानकारी दी।विवेक ने बताया कि उन्हें पूर्ण विश्ववास है कि आगामी 9 अगस्त को अंतराष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर वे भोपाल में इस कला का प्रदर्शन कर भारत सहित फरीदाबाद का नाम रोशन करेंगे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: