Friday, July 20, 2018

खाली कक्षा की छात्राओं से लगवाते है झाडू, 12वीं तक के स्कूल में मात्र 6 शिक्षक


Students from vacant classes, sweep, only 6 teachers in school till 12th,

फरीदाबाद(abtaknews.com) 20 जुलाई,2018; गांव छांयसा स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में स्वच्छता अभियान की आड में स्कूल की छात्राओं से झाडू लगवाई जाती है, छात्रा द्वारा स्कूल में झाडू लगाने की तस्वीरें कैमरे में कैद हुई हैं, जिसमें छात्रा क्लास रूम की सफाई करती हुई नजर आ रही है, इतना ही हरियाणा में आ रहे लगातार खराब परिणामों का रियलटी चैक करने पर मालूम हुआ कि 12वीं क्लास तक के स्कूल में मात्र 6 शिक्षक उपलब्ध हैं, इस स्कूल में बडी क्लासों की छात्रायें ही छोटी क्लासों की छात्राओं को पढाती है, शिक्षक बनी छात्राओं को न तो देश के राष्ट्रपति का नाम पता है और न ही शिक्षा मंत्री का, इतना ही नहीं छात्रा तो अपने गांव के सरपंच का नाम भी नहीं बता पा रही हैं।

बेटी पढाओ की दुहाई देनी वाली सरकार की जमीनी हकीकत पृथला विधानसभा के गांव छांयसा के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ने दिखा दी है,  जहां 12वीं कक्षा तक पढने वाली करीब साढे तीन सौ छात्राओं को पढाने के लिये मात्र 6 अध्यापक ही मौजूद हैं। शिक्षा विभाग हर बर्ष खराब आने वाले परिणामों को लेकर बैठकें करता है अगर स्कूल में पढाने के लिये पर्याप्त संख्यां में अध्यापक ही नहीं होंगे तो परिणाम कैसे अच्छे आयेंगे। 

गांव छांयसा के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का आलम ये है कि एक आध्यपक एक ही पीरयड में दो-दो तीन- तीन कक्षाओं को संभालते हैं, स्कूल में पूरी पढाई अध्यापकों से नहीं जुगाड से होती है, बडी कक्षाओं में पढने वाली छात्राओं को छोटी कक्षाओं में पढने वाली छात्राओं को पढाने के लिये भेज दिया जाता है, और जिन छात्राओं को शिक्षक बनाकर भेजा जाता है उन्हें खुद ये तक जानकारी नहीं है कि उनके देश का राष्ट्रपति कौन है और शिक्षा मंत्री कौन। 

गांव छांयसा के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पहुंचने पर एक सच्चाई और कैमरे में कैद हुई वह थी स्कूल में छात्रायें झाडू लगाती हैं, स्कूल में प्रवेश करने पर एक छात्रा हाथों में बडा झाडू लेकर क्लास रूम से कूडा बाहर निकालती हुई नजर आई, जिससे पूछा गया तो छात्रा ने बताया कि वह और अन्य क्लासों में पढने वाली छात्रायें रोजाना झाडू लगाती है। जिसके जबाब में स्कूल के प्रधानाचार्य ने बचाव करते हुए कहा कि छात्राओं से झाडू स्वच्छता अभियान के तहत लगवाया जाता है, स्कूल के अंदर स्वच्छता अभियान की आड में छात्राओं से झाडू लगवाने का भी मामला सामने आया है।छात्राओं की क्लास ले रही अध्यापिका ने बताया है कि उनके स्कूल में अध्यापकों की कमी है इसलिये वह थोडा - थोडा समय हर क्लास को देती है, और छोटी कक्षाओं को पढाने के लिये बढी क्लास की छात्राओं को भेज देती है। 

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य अशोक कुमार ने छात्राओं की जनरल नॉलेज पर बोला कि रोजाना सुबह की प्रार्थना में छात्राओं को सामान्य ज्ञान के बारे में बताया है। जब कोई बाहर से आता है तो छात्रायें घबरा जाती है इसलिये जबाब नहीं दे पाई होंगी।। वहीं स्कूल में छात्रा द्वारा झाडू लगाने के सवाल पर प्रधानाचार्य ने बताया कि उनके स्कूल में एक ही स्वीपर है वह छुट्टी पर होता है तो छात्राओं से झाडू लगवाई जाती है। प्रधानाचार्य ने स्कूल में अध्यापकों की कमी पर बोला कि उनके स्कूल में 12 अध्यापकों की जगह है मगर उनके पास सिर्फ 6 ही अध्यापक हैं जिनसे वह स्कूल की पढाई मैनेज कराते हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: