Friday, June 29, 2018

हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन का फरीदाबाद में धरना जारी

फरीदाबाद-29जून,2018; हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन की केंद्रीय परिषद द्वारा पूर्व में जारी कर्मचारीयों के विरोध प्रदर्शन व घोषित में कार्यक्रमों की श्रृंखला में बिजली निगम के अन्तर्गत सर्कल फरीदाबाद के तमाम कर्मचारियों ने उपमंडल, मंडल व सर्कल स्तर पर बिजली निगम के निदेशक एसके बंसल से यूनियन के केंद्रीय नेताओं की हिसार सातरोड कर्मचारियों के एजेंडे पर विफल हुई वार्ता के बाद प्रदेश के कर्मचारियों ने अपने काम का बहिष्कार करके रोष प्रदर्शन कर नाराजगी जाहिर की व बिजली निगम मैनेजमेंट के अधिकारियों पर पद व मनमानी का आरोप लगाते हुए नारेबाजी के माध्यम से जमकर खिलाफत की । जिसमे बिजली वर्कर यूनियन ओल्ड व ग्रेटर फरीदाबाद यूनिट के प्रधान लेखराज चौधरी सचिव जयभगवान आंतिल ने उपमंडल कार्यालय मथुरा रोड व तिलपत पर तथा बल्लभगढ़ यूनिट के प्रधान कर्मवीर यादव सचिव मदन गोपाल ने डिवीजन बल्लभगढ़, एम एन्ड पी लैब पर व एनआईटी यूनिट के प्रधान बलबीर कटारिया सचिव बृजपाल तँवर ने डिवीजन एनआईटी व फरीदाबाद सर्कल पर सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा के नेतृत्व की अध्यक्षता में विरोध प्रदर्शन कर सैंकड़ों कर्मचारियों ने रोष जताया । तीनों जोनों में चल रहे रोष प्रदर्शन पर कर्मचारियों को सम्बोधित कर रहे कर्मचारी नेताओं व केंद्रीय परिषद के प्रदेश उपमहासचिव पहलवान महावीर बाघोत ने आक्रोश भरे शब्दों में कहा कि जब एचएसईबी वर्कर यूनियन की केंद्रीय परिषद के नेता दोषियों के खिलाफ निष्पक्ष जाँच के लिये तत्पर हैं तो आखिर मैनेजमेंट अपनी टाँगें पीछे क्यों खींच रही है ?

इसका मतलब दाल में काला नही बल्कि इस बिजली निगम के अधिकारियों के मन काले प्रतीत हो पूरी की पूरी दाल ही काली है जिसमे ये अधिकारी भी कहीं न कहीं सम्मलित व दोषी हैं जो कि इस तरह निष्पक्ष जाँच को कराने में असमर्थ जान अपने चहेतों को बचाने की भूमिका निभा रहे हैं अपने पाँच कर्मचारियों के निष्कासन पर व झूठी रिपोर्ट के आधार पर अधिकारियों दवारा कराई गई एफआईआर के निरस्त ना होने पर इतने बड़े विरोध के चलते हुए भी खामोश बैठा बिजली निगम प्रशासन मौन व्रत धारण किये हुए है जब तक सस्पेंड इन कर्मचारीयों को बहाल कर इनका मान सम्मान नही लौटाया जाता तब तक कर्मचारी अपने अडिग फैसले पर अटल हैं आज यह धरना पूरे फरीदाबाद सर्कल में सभी कार्यालयों पर शान्तिपूर्ण तरीके से काम का बहिष्कार कर रोष प्रदर्शन चलाये हुए है इसके चलते खराब मौसम में मानसून के समय किसी भी प्रकार की यदि अशान्ति भंग होती है तो स्वयं बिजली विभाग व यहाँ के पुलिस प्रशासन की जिम्मेदारी होगी । इस धरने प्रदर्शन की अगुआई में जगदीश, राजाराम, बिसनदेव, ईश्वर, करीम, बीरसिंह रावत, सुनील, मोनिका, चन्दर मोहन, जिलेसिंह, लक्ष्मण, रामकुमार, वीरसिंह, धीरज भगत, हुकुमसिंह राणा, विजय, नवीन, देवेन्द्र, विनोद, हनीफ खान, विजयपाल, अजय, वीरपाल आदि ने बिजली निगम के खिलाफ विरोध दर्ज कर सैंकड़ों कर्मियों ने नारेबाजी की ।



loading...
SHARE THIS

0 comments: