Saturday, June 30, 2018

बल्लबगढ़ में श्रम मंत्री नायब सैनी ने विधायक मूलचंद शर्मा व सीमा त्रिखा ने बांटी सिलाई मशीन

Balbaghar Employment and Labor Minister Naib Saini, MLA Moolchand Sharma and Border Trikha distributed sewing machine
बल्लबगढ़ (abtaknews.com) 30 जून। अनाजमंडी में रोजगार एवं श्रम मंत्री नायब सैनी ने विधायक मूलचंद शर्मा और विधायक सीमा त्रिखा के साथ बांटी सिलाई मशीन।नायब सिंह सैनी ने आज बल्लमगढ़ की अनाज मंडी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उनसे कहा है कि बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र की जितनी भी मांगे हैं उन सभी मांगों को पूरा करना है।
हरियाणा के श्रम एवं रोजगार मंत्री श्री नायब सिंह सैनी ने कहा कि पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा के लिए दी जा रही सहायता राशि में करीब 50 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की है। इसके साथ ही 10वीं कक्षा में उत्कृष्टï स्थान हासिल करने वाले विद्यार्थियों को पहली बार प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। आज उन्होंने 1 हज़ार 335 लाभार्थियों को 89 लाख 79 हज़ार 320 रुपए के राशि के चेक वितरित किए तथा 400 सिलाई मशीनें भी वितरित की।
श्री सैनी ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों की सहायता राशि को 3 हजार से बढ़ाकर 8 हजार, कक्षा नौवीं से 12वीं तथा आईटीआई के छात्रों की सहायता राशि 6 हजार से बढ़ाकर 10 हजार, स्नातक के लिए 8 हजार से बढ़ाकर 15 हजार तथा स्नातकोतर विद्यार्थियों की सहायता राशि 12 हजार से बढ़ाकर 20 हजार रुपये वार्षिक की गई है। इसके अलावा, श्रमिकों के बच्चों द्वारा निजी संस्थानों में इंजीनियरिंग, चिकित्सा शिक्षा, तकनिकी शिक्षा, प्रबन्धन तथा अन्य व्यवसायिक कोर्सों की पढ़ाई का खर्च भी बोर्ड द्वारा वहन किया जाएगा, इससे पहले केवल यह सुविधा सरकारी संस्थानों में ही दी जाती थी।श्रम मंत्री ने बताया कि 10 वीं की परीक्षाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले श्रमिकों के बच्चों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इसके तहत 90 प्रतिशत या अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को 51 हजार रुपये, 80 प्रतिशत या अधिक अंक पर 41 हजार रुपये, 70 प्रतिशत या अधिक अंक आने पर 31 हजार तथा 60 प्रतिशत या अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को 21 हजार रुपये की एक मुश्त प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
श्री सैनी ने बताया कि पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को कन्यादान के तौर पर 51 हजार रुपये की राशि दी जाती है, इसके अलावा भविष्य में लडक़ी की शादी में अतिरिक्त सहायता के तौर पर 50 हजार रुपये और दिये जाएंगे। श्रमिकों के बच्चों द्वारा किसी अन्य बोर्ड, निगम या विभाग से छात्रवृति, अनुदान या अन्य आर्थिक सहायता न लेने की स्वत: घोषणा करने का अधिकार दिया गया है। इससे पहले संस्थाओं के मुखिया द्वारा सत्यापित प्रमाण पत्र उपलब्ध करवाना होता था। सरकार की योजनाओं का लाभ श्रमिकों को सहजता से उपलब्ध करवाने के लिए श्रम निरीक्षकों तथा सहायक श्रम आयुक्तों के अधिकार में वृद्घि की गई है। इसके अलावा, मजदूरों को पंजीकरण करवाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, 2 जुलाई से 31जुलाई तक श्रमिकों का पंजीकरण किया जायेगा । जिनकी पंजीकरण अवधि 5 वर्ष होगी।
श्रम मंत्री ने कहा कि पंजीकृत श्रमिक की मृत्यु होने पर अब उसके आश्रितों को भी परिवार की शिक्षा, स्वास्थ्य, अपंगता पैंशन तथा अन्य सहायता दी जाएगी। श्रमिकों द्वारा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए क्लेम प्रस्तुत करने की निर्धारित समय सीमा 6 माह से बढ़ाकर एक वर्ष कर दी है। इसके साथ ही अपंजीकृत श्रमिकों की भी कार्यस्थल पर दुर्घटनावश अपंगता होने पर पहली बार 1.50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का निर्णय लिया है।श्री सैनी ने बताया कि दूसरे चरण में अंतोदय आहार योजना के अन्तर्गत श्रमिकों के लिए 6 अन्य जिलों में सरकारी भोजनालय खोले जाएंगे। इसमें भिवानी, अंबाला, करनाल, पंचकूला सेक्टर-16 तथा पानीपत शामिल है। इससे पहले हिसार, फरीदाबाद, गुरुग्राम,पलवल, यमुनानगर तथा सोनीपत सहित छ जिलों में ऐसे भोजनालय चलाये जा रहे हैं। इनमें प्रतिदिन 250 से 300 लोग खाना खाते हैं, जिन्हें मात्र 10 रुपये में भरपेट आरोग्यकर खाना उपलब्ध करवाया जाता है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: