Tuesday, June 26, 2018

जनता को नंगा करने वाले थाना एन.आई.टी. के एसएचओ को बर्खास्त करो : विजय कौशिक


फरीदाबाद 26 जून(abtaknews.com)विधायक के निवास पर प्रदर्शन करने गए ग्रीन फिल्ड कालोनी के लोगों के साथ उनके बच्चे भी थे पुलिस ने उन्हें साजिश के तहत बिजली अधिकारियों से उनकी समस्या सुलझवाने का वादा किया और उन्हें गाडिय़ों में बैठा लिया। उसके बाद थाने में ले जाकर उन्हें नंगा करके केवल कच्छे में हवालात में बंद कर दिया। प्रेस को जारी एक बयान में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी विजय कौशिक ने कहा कि ऐसा अमानवीय व्यवहार करने वाले भ्रष्ट एस.एच.ओ. को हरियाणा सरकार तुरंत प्रभाव से बर्खास्त करे। जिसने मानवाधिकारों का उल्लंघन करते हुए बिजली की समस्या से परेशान लोगों के साथ जघन्य अपराधियों की तरह व्यवहार किया और उनके बच्चों तक को यह बता दिया कि उनका बाप नंगे बदन रात भर हवालात में बंद रहा, जिससे उनके बच्चे भी अपने पिता से सवाल कर सकें कि आखिर वे किस अपराध में रात भर नंगे बदन हवालात में बंद रहे थे।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया प्रभारी विजय कौशिक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी सरकार में जब उन्हीं के मंत्री व विधायकों की नहीं सुनी जा रही तो आम जनता की कौन सुनेगा? प्रदेश के मंत्री विपुल गोयल ने एसएचओ को लाइन हाजिर करने के लिए कहा है। जबकि इस अपराध के लिए एसएचओ को बर्खास्त किया जाना चाहिए। वैसे भी हालात देख कर नहीं लग रहा कि मंत्री विपुल गोयल के कहने से इस सिफारिशी एसएचओ के खिलाफ हरियाणा सरकार कोई कार्यवाही करेगी।

श्री कौशिक ने कहा कि जब भाजपा नेता चुनाव में घर-घर वोटों की भीख मांगते हुए घूम रहे थे तब लोगों से कहते थे कि आप लोगों को कोई भी समस्या हो तो आधी रात भी उनके घर के दरवाजे जनता के लिए खुले हैं। यहां तो विधायक द्वारा अपने घर के दरवाजे ही जनता के लिए बंद कर लिए गए एवं विरोध प्रदर्शन करने पर एसएचओ द्वारा उन्हें मारा-पिटा गया और उन्हें नंगे बदन हवालात में बंद कर दिया गया। एक तरफ तो सरकार इनेलो नेताओं एवं उनके कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी का दावा करके उन्हें साथ की साथ रिहा कर देती है दूसरी तरफ आम जनता अगर भाजपा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करती है तो उनके साथ इस तरह का अमानवीय सलूक किया जाता है।

प्रदेश मीडिया प्रभारी विजय कौशिक ने कहा कि जिस थाना प्रभारी ने इस कृत्य को अंजाम दिया है उसके कार्यकाल में लोगों द्वारा की गई शिकायतों का रिकार्ड निकलवाया जाए जिससे पता चल सके कि थाना प्रभारी जनता की शिकायतों को कितनी तत्परता से निभाते हैं। श्री कौशिक ने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि थाना प्रभारी इस बात के आदि हैं कि जो भी व्यक्ति किसी के खिलाफ शिकायत लेकर आए उसकी विरोधी पार्टी से भी उसकी शिकायत लेकर दोनों ही पक्षों को शांति भंग होने की आशंका में गिरफ्तार कर लिया जाए। शिकायतों की जांच होने पर एसएचओ की कलई खुल जाएगी और उसके काले कारनामे जनता के सामने उजागर हो जाएंगे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: