Friday, June 15, 2018

इनसो ने वाईएमसीए के वाईस चांसलर दिनेश कुमार को राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन


INSO YMCA Vice Chancellor Prof. Dinesh Kumar, Mentioned in the name of Governor

फरीदाबाद,15 जून(abtaknews.com)हरियाणा प्रदेश के विश्वविद्यालयों ,कॉलेजों में फीस वृद्धि का छात्र विरोधी निर्णय वापस लेने हेतू आज इनेलो प्रदेश के पूर्व महासचिव एवं इनसो के पूर्व प्रभारी अजय भड़ाना व इनसो जिलाध्यक्ष रवि शर्मा के नेतृत्व में छात्रों ने वाईएमसीए के वाईस चांसलर प्रो0.दिनेश कुमार के माध्यम से महामहिम राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर अजय भड़ाना ने कहा कि कॉलेजों में प्रतिवर्ष फीस वृद्धि का छात्र एवं शिक्षा विरोधी फरमान जारी कर दिया जाता है, जो कि सरासर गलत है। इनसो छात्र संघ के कार्यकर्ता व छात्र फीस वृद्धि के छात्र विरोधी निर्णय का पूरी तरह से विरोध इस ज्ञापन के माध्यम से करते है। उन्होनें कहा कि हाल ही में प्रदेश के विश्वविद्यालयों में नए शैक्षणिक सत्र के लिए फीस वृद्धि का तुगलकी फरमान जारी कर दिया गया है। इस सत्र में भी प्रदेश के लगभग सभी विश्वविद्यालयों में फीस बढ़ाई गई है। फीस वृद्धि के इस निर्णय से प्रदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण करना ओर भी ज्यादा महंगा हो गया है। इस अवसर पर रवि शर्मा ने कहा कि एक तरफ तो देश में सर्व शिक्षा अभियान जैसी योजनाओं पर हजारों करोड़ों रुपए खर्च चुके हैं ताकि देश का प्रत्येक नागरिक शिक्षित हो सके, वहीं दूसरी तरफ लगातार फीस वृद्धि के निर्णय लेकर कहीं ना कहीं साधारण एवं गरीब वर्ग के छात्रों को उच्च शिक्षा से वंचित रखने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। अत्यधिक महंगी फीस व जटिल दाखिला प्रणाली के कारण गरीब व ग्रामीण आंचल के छात्र अपनी पढ़ाई बीच में ही छोडऩे पर मजबूर हैं।
INSO YMCA Vice Chancellor Prof. Dinesh Kumar, Mentioned in the name of Governor

उन्होनें कहा कि भारत के संविधान के अनुसार देश के प्रत्येक नागरिक को सस्ती व गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान करना केंद्र एवं राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है। परंतु सरकार अपनी जिम्मेदारियों को ठीक तरह से नहीं निभा रही है। प्रदेश के शिक्षण संस्थानों को आमदनी का साधन समझकर लगातार छात्रों पर अनावश्यक आर्थिक बोझ डाला जा रहा है। महंगी शिक्षा प्रणाली के कारण बहुत से होनहार छात्र उच्च शिक्षा ग्रहण करने से वंचित रह जाते हैं।
ज्ञापन में महामहिम राज्यपाल से विनम्र निवेदन किया गया है कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों / कॉलेजों में फीस वृद्धि के इस छात्र एवं युवा विरोधी निर्णय को वापस लेने के लिए सरकार एवं विश्वविद्यालयों को आवश्यक निर्देश जारी करें, ताकि प्रदेश का प्रत्येक गरीब, मजदूर, किसान एवं ग्रामीण आंचल का छात्र उच्च शिक्षा ग्रहण कर सके व शिक्षित होकर भविष्य में राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे सके। हमें पूरी उम्मीद है कि आप प्रदेश के छात्र एवं युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए फीस वृद्धि के इस छात्र विरोधी निर्णय को वापस लेने के लिए जल्द से जल्द आवश्यक कार्रवाई करेंगे। इस मौके पर वाईस चांसलर प्रो0.दिनेश ने छात्रों को आश्वासन दिया कि आपका यह ज्ञापन जल्दी से जल्दी महामहिम राज्यपाल के पास पहुंचा दिया जाएगा और इस ज्ञापन के साथ हम वाईएमसीए का एक पत्र भी सलंगन कर देगें। इस अवसर पर इनसो के पलवल अध्यक्ष नागेश तेवतिया,विनय धतरवाल,सतीश रेडू,अजय श्योरण,मयूर,गौरव मेहलावत,सचिन,नफे तेवतिया,राहुल कपासिया,राहुल चौधरी,विकास चंदीला बडौली,गौरीशंकर व हर्ष चौहान मौजदू थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: