Monday, May 14, 2018

जरूरतमंद परिवारों के होनहार बच्चों की उच्च शिक्षा में सहायक बन रही है मानव सेवा समिति

Human Services Committee is becoming a subsidiary of the needy families of higher education in higher education.

फरीदाबाद 13 मई(abtaknews.com) बिहार के सुपर-30 की तर्ज पर जरूरतमंद परिवारों के होनहार बच्चों का आईआईटी में प्रवेश का सपना सच करने में शहर की प्रमुख सामाजिक संस्था मानव सेवा समिति 2015 से कार्य कर रही है। समिति द्वारा दिलाई गई कोचिंग के बाद पिछले 2 बैचों के विद्यार्थिओं में से एक छात्र का चयन आईआईटी खड़कपुर, दो बच्चों को वाईएमसीए, एक बच्चे का नीट कुरूक्षेत्र, एक बच्चे का एनडीए में चयन हो चुका है इसके अलावा 2018 की जी मेन्स परीक्षा पांच छात्रों ने क्वालिफाइड की है। रविवार को तीसरे बैच में चचन के लिये विद्यार्थिओं की चयन परीक्षा आयोजित की गई जिसमें नान मेडिकल 12वीं के 14 व 11वीं के 13 विद्यार्थिओं ने परीक्षा दी। इससे पहले रविवार 6 मई को आयोजित परीक्षा में 17 छात्रों ने परीक्षा दी थी। अब इन कुल छात्रों में से षुरू के 21-21 मैधावी विद्यार्थिओं का चयन कर रविवार 20 मई से 11वीं व 12वीं की कोचिंग अलग अलग दिनों में षुरू कर दी जायेगी। 
मानव सेवा समिति के मुख्य संयोजक कैलाश शर्मा ने बताया कि तीन साल पहले आईआईटी में दाखिला दिलाने के लिए कुछ विद्यार्थियों ने आर्थिक सहयोग की मांग की। विद्यार्थी हित के लिए मानव सुपर-21 को अमलीजामा पहनाया गया। समाजसेवी रोशनलाल बोरड़ और अरुण आहूजा, संरक्षक आरएन झंवर, कोडिनेटर/षिक्षाविद सुभाश षर्मा व डा. तरुण गर्ग, राजकीय स्कूलों के पीजीटी अध्यापक राजीव जैन और अरविंद अग्रवाल व अन्य षिक्षक बृृजेष कुमार, राजेष गोस्वामी, पी सी गांधी, एससी षर्मा मानव सुपर 21 को अपनी निषुल्क सेवाएं प्रदान करते हैं। समिति के पदाधिकारी पवन गुप्ता, अरूण बजाज, गौतम चैधरी, सुरेन्द्र जग्गा, राजेन्द्र गोयनका, उशाकिरण षर्मा, बांकेलाल सितोनी मार्गदर्षक के रूप में पूर्ण सहयोग प्रदान कर रहे हैं। रौटरी क्लब गै्रस, भारत विकास परिशद संस्कार षाखा व अन्य कई संस्थाएं छात्रों को पढ़ाई के लिए चैरेटी के रूप में किताबें व अन्य सुविधाएं प्रदान की जाती है। समिति ने षहर के रिटायर/कार्यरत षिक्षाविदों से अपील की है कि वे मानव सुपर 21 अपनी सेवाएं प्रदान करें। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: