Friday, May 18, 2018

अटाली में जानलेवा हमलावरों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस आयुक्त से मिले ग्रामीण

Faridabad police commissioner seeks justice for arrest of deadly attackers at Atalay

फरीदाबाद(abtaknews.com) 18 मई,2018 ; गांव अटाली निवासी एक व्यक्ति ने घर में घुसकर जानलेवा हमला करने के मामले में पुलिस ने न्याय की गुहार लगाई है। पीडि़त ने इस मामले में पुलिस आयुक्त को ज्ञापन सौंप आरोपियों को गिर तार करने तथा मामले की जांच किसी और पुलिस एजेंसी से करवने की मांग की है।
गांव अटाली थाना छांयसा निवासी रवि पुत्र तेजपाल  ने पुलिस कमिश्रर को दी अपनी शिकायत में बताया कि 27 मार्च 2018 को रात 11 बजे ईश्वर बोना उर्फ संदीप, राजेंद्र, नीरज, गुलशन  सहित पांच लोगों ने उसके घर के आगे काफी हल्ला-गुल्ला किया और जब शिकायतकत्र्ता के भाई शबी ने उन्हें रोकना चाहा तो उक्त पांचों लोगों ने तारीफ निवासी मच्छगर के साथ हममशविरा होकर 28 मार्च 2018 को सुबह छह बजे अपने हाथों में पिस्टल, डंडा व फरसा आदि हथियार लेकर शिकायतकत्र्ता रवि के घर में घुस आए और शिकायतकत्र्ता रवि व उसके भाई शबी व सहदेव जोकि बाहर से आए थे, उन पर हमला बोल दिया।आरेपियों ने उन पर हमला बोलकर 25 से 30 राउंड फायर किए जिससे एक गोली रवि के बांये पैर में लगी और पार निकल गई। रवि व उसके भाईयों ने मुश्किल से अपनी जान बचाई। आरोप है कि उक्त आरोपी पेशेवर मुजरिम हैं और संदीप व बोना, तारीफ, ईश्वर, राजेंद्र के खिलाफ कई मुकदमे अलग-अलग थानों में दर्ज हैं। जब शिकायतकत्र्ता ने शोर मचाया तो असपास के लोग इकठ्ठा हो गए। लोगों को आता देख आरोपी भाग कर फरार हो गए। कुछ लोगों ने उन्हें पकडऩे का प्रयास किया परंतु उन्होंने हथियारों का डर दिखा दिया। रवि को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस मामले में पीडि़त की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला भी दर्ज किया। उक्त मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों के नाम व उनके द्वारा की गई वारदात का खुलासा भी कर दिया था। उनमें से एक आरोपी संदीप उर्फ बोना को गिर तार कर नीमका जेल भेज दिया व एक अन्य दोषी को अग्रिम जमानत अदालत में खारिज हो चुकी है। शिकायतकत्र्ता ने कहा कि उक्त आरोपी उसी के गांव के हैं और गुंडातत्व हैं। इसलिए उनके खिलाफ कोई बोलने को तैयार नहीं है। उन्होंने पुलिस आयुक्त को सौंपे ज्ञापन में कहा कि उक्त आरोपी पिछले कुछ दिनों से सायं को अपने घरों में आ जाते हैं और गांव में बेखौफ घूमते हैं। इस संदर्भ में शिकायतकत्र्ता ने सीआईए पुलिस को भी सूचित किया परंतु पलिस द्वारा देरी से पहुंचने पर व लापरवाही बतरने पर आरोपी वहां से फरार हो गए। जिससे उनके परिवार व गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है।  उनका कहना है कि उक्त आरोपी यह लोगों को कह रहे हैं कि पुलिस उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकती, उन्होंने पुलिस ेसे बात कर ली है। शिकायतकत्र्ता ने अपील की है कि उक्त आरोपियों से उन्हें व उनके परिवार को जान-माल का खतरा है। उन्होंने अपील की है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच कर आरोपियों को गिर तार किया जाए तथा इस मामले की जांच किसी अन्य पुलिस एजेंसी से करवाई जाए।


loading...
SHARE THIS

0 comments: