Friday, May 4, 2018

व्यापारियों को ठग रहे ईरानी नागरिकों से हरियाणा पुलिस की मिलीभगत, दहशत



बल्लबगढ़(abtaknews.com) 04 मई,2018 ; हरियाणा पुलिस की मिलीभगत से प्रदेश के व्यापरियों को विदेशी ठग लूटने में लगे हैं। पुलिस जो कि अपने कारनामों के लिए मशहूर है ऐसे विदेशी ठगो के साथ मिलकर हरियाणा के व्यापारियों को लूटवाने का पूरा मौका मुहैय्या करा रही हैं। पुलिस के ऐसी ही एक करतूत का खुलासा हुआ जब फरीदाबाद , बल्लबगढ़ और पलवल में विगत 3 महीने में ईरानी नागरिकों ने व्यापारियों को ठगने की वारदात को अंजाम दिया। ऐसा ही के मामला फरीदाबाद के बल्लभगढ़ के व्यापारी के साथ हुआ। व्यापारी के साथ ठगी के साथ हजारों रुपए की ठगी करने वाले ईरानी नागरिक को व्यापारियों द्वारा पुलिस को सौंपने पर बिना किसी जांच के छोड़ दिया गया। पुलिस ने यह इरानी नागरिक सिर्फ इसलिए छोड़ दिया क्योंकि वह विदेशी था, जबकि ठगी करने वाले इरानी नागरिक को व्यापारियों ने पकड़कर और उसकी पिटाई करने के बाद पुलिस को सौंपा था। पुलिस कस्टडी में बंद इस नागरिक को छोड़ने से जहां व्यापारियों में पुलिस के प्रति रोष है वही पुलिस कि इस तरह की कार्य प्रणाली भी सवालों के घेरे में है। पुलिस के पास सीसीटीवी फुटेज भी पहुंच गई है, बावजूद इसके पुलिस अधिकारी भी इस मामले में कुछ भी कहने से साफ तौर पर इंकार कर रहे हैं। 

बल्लभगढ़ शहर के बर्तन व्यापारी महेश सिंगला की दुकान पर इरानी नागरिकों ने कुछ समय पहले व्यापारी को सम्मोहित कर हजारों रुपए की ठगी की थी। इस व्यापारी के पास आरोपी इरानी नागरिक मात्र छोटा सा चाकू लेने आए थे लेकिन उसे सम्मोहित कर दोनों उस से लगभग ₹25000 ठगकर ले गए। यह पूरी घटना सीसीटीवी मेंं कैद भी हो गई और पुलिस ने इसे देख भी लिया लेकिन पुलिस ने इस संबंध मेंं कार्यवाही करना तो दूर व्यापारी की शिकायत भी नहीं ली। कल यही दोनों ईरानी नागरिक दूसरे व्यापारी को निशाना बनाने के लिए घूम रहे थे की इनका शिकार पहले व्यापारी ने इन्हें पहचान लिया और पकड़कर इनकी पिटाई कर दी। 

सभी व्यापारियों ने इकट्ठा होकर मौके पर पुलिस को बुला लिया और इन्हें पुलिस के हवाले भी कर दिया। लेकिन रात में पुलिस ने इन्हें केवल इसलिए छोड़ दिया क्योंकि यह विदेशी नागरिक थे और इनके पास पासपोर्ट भी था। आज ही बल्लभगढ़ के व्यापारी के पास ईरानी नागरिकों द्वारा कल पलवल के बाजार में एक और व्यापारी को इसी तरह की घटना को अंजाम देने का सीसीटीवी फुटेज आया तो व्यापारियों ने पुलिस को बता कर उनसे संपर्क किया। लेकिन अब क्या होना था अब तो यह इरानी नागरिक पुलिस गिरफ्त से बहुत दूर जा चुका था। पीड़ित व्यापारी महेश सिंगला का कहना था कि जब उनके साथ पहले वारदात हुई थी तो तब पुलिस ने उनकी शिकायत भी नहींं ली थी। उन्होंने ईरानी नागरिकों को पहचान लिया और पुलिस के हवालेेे कर दिया, लेकिन पुलिस ने तब भी उनकी शिकायत दर्ज करना सही नहीं समझा।



loading...
SHARE THIS

0 comments: