Saturday, May 26, 2018

फरीदाबाद कोर्ट में फिर चस्पाये गए पोस्टर, पाराशर ने कुछ जजों पर लगाए बड़े आरोप


फरीदाबाद 26 मई(abtaknews.com) फरीदाबाद जिला अदालत में जजों पर भ्रष्टाचार सहित अन्य आरोप लगाते हुए फिर से नये पोस्टर चिपकाये गये हैं। पोस्टरों पर लिखा है कोर्ट में भ्रष्ट्राचार के खिलाफ जारी रहेगा संघर्ष। ये पोस्टर किसी और ने नहीं बल्कि इसी कोर्ट में पिछले 20 से ज्यादा सालों से वकालत करने वाले जिला बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान  और न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एल एन पराशर ने चिपकाये हैं। बात दें कि इससे करीब एक माह पहले भी कोर्ट में इस तरह के पोस्टर छिपकाये गये थे, इन पोस्टरों में अलग अलग मामलों में जजों की कार्यप्रणाली पर सबाल उठाये गये थे। जिसके बाद चुपचाप रहे भ्रष्ट्रों को चेताने के लिये फिर पोस्टर चिपकाये हैं जिनपर सीधे सेशन जज पर आरोप लगाते हुए कहा है कि सेशन जज ने कोर्ट में दलालो व भ्रष्ट्र जजों को लूट की पूरी छूट कर दी है। पराशर ने दावा किया कि जजों के खिलाफ भ्रष्ट्राचार के पुख्ता सबूत है जिन्हें लेकर वह जल्द ही दिल्ली के  रामलीला मैदान में धरना देने के बाद राष्ट्रपति और प्रधान को सोंपेगे।
देश में भ्रष्ट्राचार नाम की दीमक हर विभाग के कोने कोने में लग चुक है अभी तक देश की न्यायपालिका बची हुई थी मगर अब न्याय पालिका पर भी भ्रष्ट्राचार के आरोप लगना शुरू हो गया है जिसका बडा मामला फरीदाबाद के कोर्ट परिसर में सामने आया है जहां जिला बार एशोशिएशन के पूर्व प्रधान और न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एन एल पराशर ने फरीदाबाद कोर्ट के कुछ जजों पर भ्रष्ट्राचार के आरोप लगाते हुए करीब एक माह पहले पोस्टर चिपकाये थे, उसके बाद अब फिर से कोर्ट में भ्रष्ट्राचार के खिलाफ जारी रहेगा संघर्ष के नाम से पोस्टर चिपका दिये गये हैं। जिनपर क्रमानुसार पाराशर ने आरोप लगाते हुए लिखा है कि सेशन जज ने कोर्ट में दलालों व भ्रष्ट जजों को लूट की छूट दे दी है। कोर्ट में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों पर जजों द्वारा अनैतिक दबाव  बनाकर बंधुआ मजदूरों की तरह काम लिया जा रहा है। कोर्ट में फैले भ्रष्ट्राचार के चलते ईमानदार जजों का कार्य करना दुष्वार होता जा रहा है तो वहीं इस भ्रष्ट्राचार को उजागर करने वाले पत्रकारों के खिलाफ रंजिश बांधी जा रही है। इन सब आरोपों के पुख्ता सबूतों को लेकर एल एन पाराशर ने दावा किया है कि अगर जज को इन आरोपों से कोई आपत्ति है तो मेरे खिलाफ कार्यवाही करें, पत्रकार तो सिर्फ मेरे द्वारा दिये गये बयानों को छाप रहे हैं। इतना ही नहीं एल एन पारासर ने साफ तौर पर कहा है कि वह जल्द ही रामलीला मैदान में धरना देंगे और भ्रष्ट्र जजों के खिलाफ एकत्रित सबूतों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को सोंपेगे। उन्होंने कहा कि जनता को वर्तमान समय में पुलिस से न्याय मिल सकता है कोर्ट से नहीं, उन्होंने कहा पुलिस तो वैसे ही बदनाम है जबकि असली भ्रष्टाचारी तो कोर्ट के कुछ जज हैं। उन्होंने इन्ही कुछ जजों के कारण अन्य ईमानदार जज भी परेशान हैं। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: