Sunday, May 6, 2018

केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का दलितों के घर भोजन करना मात्र ढकोसला : ललित नागर


Union Minister of State, Mr. Krishnpal Gurjar, is not only a detergent to eat dalits' house: Lalit Nagar

फरीदाबाद(abtaknews.com) तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के कथित दलित प्रेम पर हल्ला बोलते हुए कहा कि मंत्री गुर्जर का रात्रि ठहराव के दौरान दलित के घर भोजन करना मात्र एक ढकोसला है क्योंकि भाजपा सरकार में दलितों के हालात इतने खराब है कि दलितों को अपने हक-हकूक की आवाज को बुलंद करने के लिए सडक़ों पर आना पड़ा वहीं निर्दाेष दलितों को पुलिसिया डंडों का भी सामना करना पड़ा। ऐसे में मंत्री जी कौन से दलित प्रेम को दर्शाना चाहते है, यह उनकी समझ से परे है। उन्होंने कहा कि दलित समाज अब इनके बहकावे में आने वाला नहीं है क्योंकि यह समाज भली भांति जानता है कि भाजपा सरकार में दलितों पर लगातार अत्याचार बढ़ रहे है वहीं उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि मंत्री दलित के घर पर भोजन करने से पूर्व दलितों को यह बताए कि उनकी सरकार ने चार सालों में दलितों के विकास के लिए क्या किया गया है। उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा दलित हितों को सर्वाेपरि रखा है, जबकि भाजपा सरकार अपने खिसकते जनाधार को बचाने के लिए अब मात्र वोट बैंक की राजनीति के लिए दलितों को गुमराह करने का काम कर रही है।
Union Minister of State, Mr. Krishnpal Gurjar, is not only a detergent to eat dalits' house: Lalit Nagar

विधायक श्री नागर आज अपने ‘चलो गांव की चौपाल की ओर’ कार्यक्रम के तहत गांव फज्जूपुर खादर में ग्रामीणों द्वारा आयोजित स्वागत समारोह में उपस्थितजनों को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में पहुंचने पर विधायक ललित नागर का समस्त गांव की ओर से पगड़ी बांधकर जोरदार स्वागत सत्कार किया गया। वहीं ग्रामीणों ने विधायक के समक्ष समस्याएं रखते हुए गांव के लाल डोरा क्षेत्रफल को बढ़ाने, लड़कियों के लिए कालेज की व्यवस्था करने, खिलाडिय़ों के लिए खेल का मैदान, पीने के पानी की समस्या आदि का निदान कराने के अलावा केजीपी पुल के दूसरी तरफ अपने खेतों पर जाने के लिए रास्ता दिए जाने की मांग रखी, जिस पर विधायक ललित नागर ने कहा कि वास्तव में यह एक बड़ी समस्या है, लेकिन बड़े अफसोस की बात है कि सरकार में बैठे केंद्रीय स्तर के मंत्री ने पुल के साथ लगते गांवों को रास्ता दिलवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किए। लेकिन उन्होंने विपक्ष में रहते हुए भी ग्रामीणों की समस्या को जायज मानते हुए विधानसभा में इस मुद्दे को जोरशोर से उठाया तथा इसी का परिणाम है कि सरकार को उनकी इस मांग को मानते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से बकायदा एक प्रतिनिधिमंडल को मिलवाया और केंद्रीय मंत्री ने उनकी मांग को मान लिया है और जल्द ही इन गांवों को अपने खेतों में जाने के लिए रास्ता मिलेगा। लोगों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने भाजपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार लोगों की जनाकांक्षाओं पर खरी नहीं उतरी है, यही कारण है कि आज आम जन से लेकर कर्मचारी तक अपनी मांगों को लेकर सडक़ों पर आंदोलनरत है। युवा बेरोजगारी के दलदल में धंसता जा रहा है। सरकार के पास युवाओं के लिए कोई रोजगारमुखी योजना नहीं है। भ्रष्टाचार व अपराध का बोलबाला है। यही कारण है कि 29 अप्रैल को दिल्ली में आयोजित जनाक्रोश रैली की सफलता से भाजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरु हो गई है और उसका प्रमाण देश की जनता को कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा की शर्मनाक हार के रुप में देखने को मिलेेगा। इस अवसर पर पूर्व सरपंच ठा. सुमेर सिंह, ठा. सूरजपाल, सरपंच बलवीर सिंह, ठा. राजपाल, वीरेंदर वकील, जसवंत मेम्बर, ठा. लखमी चन्द, सुरेश, ठा खूबी राम, बलजीत, पप्पू सिंह, राम लखन, शीशराम मास्टर, गणेश, नानक चेयरमैन, सुरेंदर, मनोज ठाकुर, सूरजपाल भूरा, नितेंदर सिंह, वीरेंदर फौजी, कमल सिंह, सूरजपाल भूरा, विनोद सरपंच, उपेश मेम्बर, बाबू लाल रवि सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: