Saturday, May 12, 2018

डीजीपी हरियाणा बी एस संधू पहुंचे श्री सिद्धदाता आश्रम मंदिर लिया आशीर्वाद

Shree Siddhada Ashram Temple, which reached DGP Haryana B. S. Sandhu, took blessings

फरीदाबाद(abtaknews.com) 12 मई,2018; हरियाणा के डीजीपी बी एस संधू आज श्री सिद्धदाता आश्रम पहुंचे और पूर्जा अर्चना की। उन्होंने कहा कि यहां से गुजरते हुए मेरी नजर आश्रम पर पड़ती थी तो यहां आना चाहता था लेकिन आज आकर मेरी मुराद पूरी हुई है। उन्होंने आश्रम के अधिष्ठाता श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज से आशीर्वाद लिया और अगली बार परिवार के साथ आने की इच्छा व्यक्त की।
Shree Siddhada Ashram Temple, which reached DGP Haryana B. S. Sandhu, took blessings

बी एस संधू ने कहा कि श्री सिद्धदाता आश्रम दिव्यता और भव्यता दोनों ही मायने में उनके दिल को छू गया है। उन्हें यहां आकर बहुत सूकून और शांति प्राप्त हुई है। वह हमेशा यहां आना चाहते थे लेकिन इच्छा आज पूरी हुई है। उन्होंने कहा कि श्री सिद्धदाता आश्रम आना उनके जीवन की ऐतिहासिक घटना बन गई है। उन्होंने समाज के लिए संदेश दिया कि सभी आपसी प्रेम व भाईचारे से शांतिपूर्वक रहें। पुलिस आपके सहयोग एवं मदद के लिए है। कोई भी समस्या हो वो पुलिस को निसंकोच बताएं। लेकिन खुद भी किसी समस्या का कारण बनने से बचें। उन्होंने कहा कि लोगों को महिलाओं और बच्चियों के साथ प्रेम से पेश आना चाहिए और उनके साथ हो रहे सभी प्रकार के दुव्र्यवहार के विरुद्ध आवाज उठानी चाहिए। श्री बीएस संधू ने सभी को कानून की पालना करने की बात कही और इसमें पुलिस के पूरे सहयोग का वादा किया।

डीजीपी हरियाणा श्री बी एस संधू ने श्री सिद्धदाता आश्रम के अधिष्ठाता अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी के साथ विशेष पूजा अर्चना की और आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर जगदगुरु स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने कहा कि डीजीपी बीएस संधू जैसे धार्मिक विचारों वाले व्यक्ति समाज में प्रेरणा का कार्य करते हैं। हम चाहते हैं कि लोग श्री संधू से प्रेरणा लेकर समाजहित में कार्य करें। उन्होंने श्री संधु को पुन: आने की बात कही। इस अवसर पर स्वामी संपूर्णानंद ब्रह्मचारी जीडीसीपी हेडक्वार्टर श्री विक्रम कपूर जी भी विशिष्ट रूप से मौजूद रहे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: