Monday, May 7, 2018

हरियाणा सरकार को सफाई कर्मचारियों से आती है बदबू, फिर दलितों के साथ ड्रामा क्यों


फरीदाबाद(abtaknews.com) एक तरफ सरकार में बडे नेता दलितों के घर भोजन कर रहे हैं दूसरी ओर सफाई कर्मचारियों से बात तक नहीं की जा रही है उन्हें लगता है शायद हरियाणा सरकार के नेताओं को सफाई कर्मचारियों से बदबू आती है- ये कहना है नगर पालिका कर्मचारियों के प्रदेश महासचिव नरेश शास्त्री का, जिन्होंने आज प्रैैसवार्ता की सरकार को चेतावनी दी है कि  ठेकेदारी प्रथा हटाने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, 15000 न्यूनतम वेतन देने, कर्मचारियों के साथ किये गए वादे पूरे करने की मांग को लेकर कर्मचारी संगठन तीन दिवसीय हड़ताल करने जा रहे हैं, मांगे नहीं मानी गई तो 11 मई से अनिश्चितकालीन हडताल शुरू कर दी जायेगी।

सर्व कर्मचारी संघ के बेनर तले नगर पालिका कर्मचारियों के प्रदेश महासचिव नरेश शास्त्री, सर्व कर्मचारी संघ के नेता सुभाष लांबा ने एक प्रैसवर्ता कर जानकारी दी है कि ठेकेदारी प्रथा हटाने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, 15000 न्यूनतम वेतन देने, कर्मचारियों के साथ किये गए वादे पूरे करने की मांग को लेकर कर्मचारी संगठन पूरे प्रदेश में तीन दिवसीय हड़ताल करने जा रहे हैं, विरोध प्रदर्शन के रूप में 8 तारीख को पूरे प्रदेश में मशाल जुलूस निकाला जायेगा, और फिर 9 तारीख से तीन दिवसीय प्रदेश व्यापी हड़ताल सभी निगम और नगर पालिकाओं के मुख्यालय पर शुरू की जायेगी। इस प्रदर्शन में पूरे प्रदेश के 30 हज़ार कर्मचारी शामिल होंगे । हड़ताल के दौरान विधायक , मंत्रियों के घरो और ऑफिसों का घेराव भी हो सकता है। वहीं प्रदर्शन करने जा रहे कर्मचारियों ने ऐलान किया है बिजली पानी फायर ब्रिगेड जैसी सुविधाओं के कर्मचारी भी हडताल पर रहेंगे, मगर इमरजेंसी होने पर शहर वालो को परेशान नही होने दी जायेगी। अगर 10 मई तक समाधान नहीं हुआ तो 11 मई से अनिश्चित कालीन हड़ताल में तब्दील हो जायेंगे। वहीं नगर पालिका कर्मचारियों के प्रदेश महासचिव नरेश शास्त्री ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि एक तरफ सरकार में बडे नेता दलितों के घर भोजन कर रहे हैं दूसरी ओर सफाई कर्मचारियों से बात तक नहीं की जा रही है उन्हें लगता है शायद हरियाणा सरकार के नेताओं को सफाई कर्मचारियों से बदबू आती है इसलिये वह उनकी बात सुनने के लिये भी तैयार नहीं है। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: