Friday, April 20, 2018

रेप पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए अनशन पर बैठी स्वाती मालिवाल से मिले आप नेता धर्मबीर

To give justice to rap victims, you have got the leader Dhirabir, who met Swati Malliv sitting on hunger strike
फरीदाबाद(abtaknews.com) : निर्दोष एवं छोटे-छोटे बच्चों के साथ रेप करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान और 6 महीने के अंदर नाबालिग बच्चों से बलात्कार करने वालों को फांसी दिए जाने की मांग को लेकर पिछले 8 दिनों से दिल्ली के राजघाट पर धरने पर बैठी स्वाति मालिवाल के समर्थन में फरीदाबाद से आप नेता धर्मबीर भड़ाना अपने साथियां सहित पहुंचे। उन्हांने स्वाति का समर्थन करते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कानून में संशोधन करना चाहिए और कम से कम नाबालिग बच्चों के साथ रेप जैसी घिनौनी हरकत करने वालों को फांसी का प्रावधान होना चाहिए। उन्हांने कहा कि छोटे-छोटे बच्चों के साथ इस तरह का अमानवीय व्यवहार करने वालों के साथ भी इसी प्रकार का व्यवहार किया जाना चाहिए, तब जाकर ऐसे दरिंदां को अकल आएगी। इसके लिए कानून में जो भी संशोधन हां, वो करने चाहिए और फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए 6 महीने के अंदर ऐेसे बलात्कारियां को फांसी की सजा होनी चाहिए। भड़ाना ने कहा कि भाजपा सरकार का नारा है ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’। मगर बावजूद इसके आज देश में महिलाआें एवं बच्चों पर अत्याचार की घटनाआें में वृद्धि हो रही है। उन्हांने कहा कि हमें राजनीतिक लड़ाई को किनारा कर, बच्चों एवं महिलाआें पर अत्याचार करने वाले मानव रुपी दानवों को कड़ी से कड़ी सजा का प्रावधान करना चाहिए और इसमें सभी दलों की सहमति भी होनी चाहिए। तब जाकर इस प्रकार की हिंसक घटनाआें पर काबू किया जा सकता है, जब तक कठोर कानून नहीं बनेगा, बलात्कार, हत्या एवं शारीरिक शोषण जैसी घटनाएं होती रहेंगी। उन्हांने रे पीड़ितां को न्याय दिलाने वाली मुहिम में बैठी स्वाति मालिवाल को पूर्ण समर्थन देने का भरोसा दिलाया और कहा कि उनको कामयाबी जरुर मिलेगी, वो हर कदम पर उनके साथ हैं। फरीदाबाद से धर्मबीर भड़ाना के साथ जिला महिला अध्यक्ष गीता शर्मा, बल्लभगढ़ विधानसभा प्रभारी विनोद भाटी, बड़खल विधानसभा उपाध्यक्ष समीपक चित्रा, मंजीत सैनी, राजू फागना, जगत भड़ाना, माधव झा, राजेश दयालबाग, विनोद कुमार, कादिर खान, के बी भड़ाना, विजय भड़ाना, मलखान भड़ाना आदि सैंकड़ों स्वाति मालिवाल को समर्थन देने पहुंचे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: