Tuesday, April 3, 2018

ओल्ड फरीदाबाद में श्रीमद् भागवत कथा के शुभारंभ पर निकाली गई कलश यात्रा

परमात्मा का सुमिरन करने से स्वत: होते हैं दुख दूर : शर्मा
Kalash Yatra taken at the launch of Shrimad Bhagwat Katha in Old Faridabad

फरीदाबाद, 3 अप्रैल,2018(abtaknews.com) : परमात्मा का नाम सुमिरन करने से ही मानव के दुख दर्द स्वत: ही समाप्त हो जाते हैं। इसलिए हमें अपने व्यस्ततम जीवन में से कुछ क्षण निकालकर प्रभु का स्मरण करना चाहिए। यह बात कथा व्यास पंडित सुभाष शर्मा ने ओल्ड फरीदाबाद स्थित मोहल्ला बराही पाडा में श्रीमद् भागवत कथा के अवसर पर निकाली गई कलश यात्रा में उपस्थित श्रद्धालुओं को आर्शीवचन करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जब-जब पृथ्वी पर अत्याचारों का प्रभाव बड़ा है तब-तब परमेश्वर ने किसी न किसी रूप में आकर दैत्यों का संहार कर अपने भक्तों की रक्षा की है। भगवान श्रीकृष्ण ने ग्वाला बनकर गाय की सेवा की वहीं सुदामा की मित्रता निभाकर एक आदर्श स्थापित किया और अन्याय के विरूद्ध कौरवों का संहार करने में अर्जुन के सारथी बने। इसलिए हमें परमात्मा की शरण में ही रहना चाहिए। इस अवसर पर हिमांशु दत्त पाराशर, भोला शर्मा, चंद्रदत्त शर्मा, प्रताप सिंघला, लोकेश, अजय गौतम, मन्नु वधावन, नरेशा शर्मा, इंद्र भान आहूजा सहित अनेक महिलाएं उपस्थित थी।




loading...
SHARE THIS

0 comments: