Saturday, April 14, 2018

दलितों व पिछड़ों के सच्चे मसीहा थे डा. भीमराव अंबेडकर : ललित नागर


फरीदाबाद(abtaknews.com) भारत के संविधान निर्माता बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर के 127वें जन्मोत्सव के अवसर पर तिगांव क्षेत्र के गांव अगवानपुर में ग्रामीणों द्वारा एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रुप में स्थानीय कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने शामिल होकर गांव की चौपाल के समीप स्थित बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने कहा कि बाबा भीमराव अम्बेडकर देश की महान विभूति थे, उन्हें संविधान निर्माता के रूप में जाना जाता है और व दलितों व पिछड़ों के सच्चे मसीहा थे, उन्होंने जहां दलितों, पिछड़ों व गरीबों के साथ होने वाले सामाजिक भेद भाव के विरुद्ध अभियान चलाया वहीं श्रमिकों और महिलाओं के अधिकारों की भी पुुरजोर तरीके से आवाज उठाई थी। उनके द्वारा समाज व राष्ट्र हित में किए गए कार्याे को भूलाया नहीं जा सकता, यही कारण है कि उन्हेें आज भी पूरे हिन्दुस्तान में याद किया जाता है। श्री नागर ने कहा कि वे स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून मंत्री एवं भारतीय संविधान के प्रमुख वास्तुकार थे। उन्होंने संविधान में ही कानून बनाकर यह संदेश दिया था कि वो सभी को एक समान देखने की विचारधारा पर चलने में यकीन रखते हैं। इसलिए उन्होंने आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण का प्रावधान रखा। श्री नागर ने उपस्थितजनों से आह्वान किया कि आज बाबा साहेब के जन्मोत्सव पर हम सभी को उनके आदर्शों को अपने जीवन में अपनाकर समाज व देशहित में कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए। इस मौके पर शंकर नम्बरदार ,रामशरण, रतन सिंह, रामफूल श्यामलाल, गोविन्द मवासी, देवी सिंह, राम किशन, दयाराम, नन्द किशोर, शेर सिंह, गेंदा, मूलचंद ,संतोष, भीम प्रकाश, प्रमोद निगम, संजय निगम, निखिल कर्दम, भीम निगम, भंवर सिंह, बाबा इन्दर, वीर सिंह, बाबूलाल रवि, सुन्दर नेताजी, मुकट पाल, कमल चौधरी, गंगा राम, कनीराम, छंगा, सुमेर, ग्रिर्राज़, सतवीर प्रधान, राहुल निगम, रामपाल,  रवि,  राहुल, रिशपाल, मंजीत, विवेक सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: