Sunday, April 15, 2018

मुख्यमन्त्री ने स्थानिय मन्त्री से किसानो की समस्या सुनने को काहा : शिवदत्त वशिष्ठ


फरीदाबाद 15 अप्रैल।  फरीदाबाद में मुख्यमन्त्री के दौरे के दौरान नहर पार के किसानो ने अधिग्रहण का मुद्दा सुलझाने का आग्रह किया नहर पार ग्रैटर फरीदाबाद के किसान संघर्ष समिति ग्रैटर फरीदाबाद के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने मुख्यमन्त्री से मांग रखी अगर उनकी जमीन के बदले कही पास में सरकार जमीन देती है तो वे इसे लेने के लिए तैयार है। दूसरी मांग अगर सरकार उन्हे सी$एल$यू$ दे तो किसान सरकारी फीस भरने को तैयार है। तीसरी मांग उनकी जमीन का मुआवजा 3-4 करोड प्रति एकड के हिसाब से दिया जाए। यदि ये तीनो मांगे नही मानी जाती तो उनकी जमीन को अधिग्रहण से मुक्त किया जाए। उन्होने कहा कि 650 एकड जमीन का अधिग्रहण 16 लाख रूपये प्रति एकड से किया गया था लेकिन कांग्रेस सरकार ने 300 एकड जमीन का सी$एल$यू$ मोटे मुनाफे पर प्राईवेट बिल्डरो को दे दिया था। पांच गावों के किसान लगभग 8-9 वर्षो से संघर्ष कर रहे है मुख्यमन्त्री ने स्थानीय कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल से किसानो की समस्या सुनने को कहा है और पुरी जानकारी चण्डीगढ भेजे। किसानो का एक प्रतिनिधिमण्डल स्थानीय मंत्री विपुल गायेल से पुरे दस्तावेजो के साथ मिलेगा और पूरी अधिग्रहण की जानकारी से अवगत कराएगा। विशष्ठ ने कहा कि नहर पार के किसानो ने न तो सरकार को कब्जा दिया है न ही जमीन का मुआवजा उठाया है। किसानो को आस है कि स्थानीय मंत्री विपुल गोयल किसानो की समस्या का जरूर हल निकालेगें।


loading...
SHARE THIS

0 comments: