Friday, April 13, 2018

सोच को वास्तविक स्वरूप में लाने वाला ही सफल नेता: देवाशीष

Only the successful leader to bring the thinking to reality: Devashish

फरीदाबाद (abtaknews.com) "फाउंडेशन ऑफ़ मैनेजमेंट रिसर्च एंड ट्रेनिंगगैर सरकारी संगठननामक संस्था तथा संस्था  की 'वूमेन लीडरशिप " विषय पर आधारित पहली कार्यशालाका शुभारम्भ शुक्रवार को होटल रेडिसन ब्लू मेहुआ इस संस्था की चेयरमैन डॉज्योति राणा है डॉज्योति राणा डीएवी शताब्दी कॉलेज पी जी कॉमर्स एवं विपणन विभाग की विभागाध्यक्ष के रूप मे कार्यरत है।उद्घाटन समारोह के लिए आई आई एम दिल्ली के डायरेक्टर-जनरलप्रोफेसर देबाशीष चटर्जी मुख्य अतिथि थे प्रोफेसर देबाशीष चटर्जी विश्व के एक अग्रणी नेतृत्व विशेषज्ञ तथा आई आई एम कोझी खोड़ के भूतपूर्वडायरेक्टर भी रह चुके हैउनके द्वारा लिखी गयी 17 किताबे (जिनमे इनविजिबल अर्जुना सम्मिलित हैयह किताबे विश्व के छह महाद्वीपों  मे पढाई जाती है।तथा इनका अनुवाद विश्व की 8 भाषाओ मे भी किया गया है।
अपने सम्बोधन मे प्रोफेसर देबाशीष चटर्जी ने लाइसेंस लीडरशिप की अवधारणा पर बल दिया उन्होंने कहा कि  एक सफल नेता वही है जो अपनी सोच को वास्तविकता मे बदल सकता है और उद्देश्यःस्वधर्म और कार्योपर ड़याँ केदारित रखता है। और समाज के हिट मे योगदान देता है शुभारम्भ समारोह के पश्चात् कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसका संचालन मुख्य वक्ता के तौर पर संस्था की अध्यक्षा डॉ ज्योति राणा ने किया।
 कार्यशाला का केंद्र बिंदू यह था कि किस  प्रकार रचनात्मकता को क्षमता मे परिवर्तित कर अपने प्रदर्शन एंव प्रभावशीलता को बढ़ाया जा सकता हैतीन घंटे की इस कार्यशाला में विभिन्न क्षेत्रों से संभावित उच्च स्तर की 50 सेअधिक महिला प्रतिभागियों ने भाग लियाजिनमे मुख्यता मैनेजिंग डायरेक्टरविभिन्न कंपनियों के चेयर पर्सन तथा प्रिंसिपलचटाइर्डएकाउंटेंट्सशिक्षकइच्छुक उद्यमीशोधकर्ता एसोसिएट प्रोफेसरकंसल्टेंट्स इत्यादिसम्मिलित रहे। कार्यशाला के समापन पर सभी प्रतिभागयो को प्रमाण-पत्र दिए गए

loading...
SHARE THIS

0 comments: