Wednesday, April 18, 2018

गांव ददसिया के पूर्व सरपंच की जली फसल का मौका मुआयना करने पहुंचे पटवारी


Patwari, who came to Muniyana for the opportunity to harvest the former Sarpanch of village Dadsia

ग्रेटर फरीदाबाद 18अप्रैल,2018(abtaknews.com); गांव ददसिया के पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी के खेतों में बिजली विभाग की लापरवाही के चलते लगभग 25 एकड़ में खड़ी गेंहू की फसल जलकर खाक हो गई। पीड़ित किसान की जलकर खाक हुई फसल का मौका मुआयना करने पहुंचे और पीड़ित किसानों को उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। शेरपुर और किडावली के खेतों से गुजर रहे बिजली के तार और ट्रांसफार्मर से निकली चिंगारी के चलते खेतों में आग लगी जिसमें गांव ददसिया के पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी उनके भाई आनंद त्यागी और अजय त्यागी की गेंहू की फसल जलकर खाक हो गई। दमकल और स्थानीय ग्रामीणों ने आग पर बड़ी मुश्किल से काबू पाया। सालभर मेहनत करके फसल तैयार करने वाले किसानों के पलभर में लाखों रूपये का नुक्सान हुआ है। आग लगते ही पूरे ददसिया, किडावली और शेरपुर के क्षेत्र में हडकंप मच गया और सभी अपनी फसल को बचाने के लिये इधर से उधर भागते और ट्रैक्टर चलाकर आग पर काबू पाने की कोशिश करते हुए नजर आये। पीडित पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी ने बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाना भूपानी में एफआईआर दर्ज करवा दी है।  
भूपानी थाने के अंतर्गत गांव शेरपुर और किडावली के खेतों में ददसिया के पूर्व सरपंच शिव कुमार त्यागी और उनके परिवार के खेत है जिसमे गेंहू की कटाई के दौरान अचानक आग लग गई। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते पककर खडी गेंहू की फसल में पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी की 25 एकड गेंहू की फसल को जलाकर राख कर दिया। खेतों के उपर से जा रही बिजली के ढीले तारों के चलते ट्रांसफार्मर में चिंगारी निकली जिससे सूखी गेंहू की फसल में आग लग गई है,, आग को देखते ही पूरे ददसिया, किडावली और शेरपुर के क्षेत्र में हडकंप मच गया और सभी अपनी फसल को बचाने के लिये इधर से उधर भागते और ट्रैक्टर चलाकर आग पर काबू पाने की कोशिश करते हुए नजर आये और कुछ लोग अपना अपना कटा हुआ गेंहू उठाकर बचाते हुए दिखे। कुछ किसानों ने अपनी जान की परवाह भी न करते हुए आग को हाथों से ही बुझाने की कोशिश की, मगर आग ने इतना भयंकर बिकराल रूप ले लिया कि जब तक दमकल की गाडियां मौके पर पहुंची तब 25 एकड खडी हुई गेंहू की फसल को जलाकर राख कर दिया।

इस बारे में पीडित किसान शिव कुमार त्यागी, अजय त्यागी और आनंद त्यागी ने बताया कि उन्होंने बिजली विभाग को कुछ दिन के लिये लाईन बंद करने के लिये कहा था मगर उनकी नहीं सुनी गई जिसका खामियाजा उन्हें अपनी पूरे साल की मेहनत को आग से खाक होने के रूप में मिला। ट्रांसफार्मर की चिंगारी ने उनकी फसल में आग लगा दी जो पूरी तरह से जलकर राख हो गई।

पीडित पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी ने बताया कि दो दिन पहले भी बिजली की लूज तारों की बजह से खेत में छोटी सी आग लगी थी जिसके बाद उन्होंने बिजली विभाग को शिकायत की थी मगर उनकी शिकायत नहीं सुनी गई जिसके बाद आज उनकी लाखों रूपये की फसल जलकर राख हो गई। जिसकी शिकायत उन्होंने भूपानी थाने में कर दी है वही बिजली विभाग के खिलाफ सख्त कार्यवाही चाहते हैं और फसल का मुआवजा चाहते हैं। पीडित किसानों ने बताया कि पिछली बार तो उन्होंने फसल बीमा करवाया था मगर ओलावृष्टि के बाद खराब हुई फसल का मुआवजा नहीं मिला था इसलिये इसबार उन्होंने हताश होकर बीमा ही नहीं करवाया, पीडित किसान ने आरोप लगाया कि सरकार तो किसान के हित में योजनायें दे रही है मगर निचले क्रम के अधिकारी उन्हें पलीता लगा रहे हैं। वहीं पूर्व सरपंच ने मांग की है कि गे्रटर  फरीदाबाद के गांवों के लिये एक दमकल केन्द्र खुलवाया जाये क्योंकि कोई हादसा होने पर शहर से दमकल गाडी आने में 1 घंटे का समय लगता है तब तक अनहोनी हो चुकी होती है। 
जले खेतों का निरक्षण करने अपने सहयोगी के साथ पहुंचे पटवारी कपिल ने पीड़ित किसानों को ढांढस बंधाते हुए कहा कि जल्द से जल्द रिपोर्ट बनाकर ऊपर भेजी जाएगी ताकि पीड़ितों को मदद के रूप से मुआवजा की कार्रवाई पूरी की जाए। इस मौके पर पीड़ित किसानों में शिव कुमार त्यागी, अजय त्यागी, आनंद त्यागी, किशन पंडित,सतनाम किडावली, बलदेव, जग्गा, कपिल चौहान एवं आसपास के किसान मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: