Wednesday, April 11, 2018

एक बार फिर दोस्त ने ही दोस्ती की पीठ में घौंपा छुरा, दोस्ती के रिश्ते को किया तार तार

Once again, the friend stole the knife in the back of friendship, did the relationship of friendship

फरीदाबाद(abtaknews.com): ट्रासपोर्ट के ठेके को लेने की रङ्क्षजश रखते हुए एक दोस्त ने ही अपने भांजे के साथ मिलकर अपने दोस्त को ईंट से मार मार कर मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं दोनो आरोपियों ने मृतक राकेश सरोहा के शव को बिस्तर में लपेट कर सोहना के तावडु थाना क्षेत्र में फैंक दिया। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए हत्या के आरोपी मामा व भांजे को गिरफ्तार कर लिया है। 

विगत 29 मार्च को सुदेश पत्नी राकेश सरोहा ने थाना मुजेसर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसका पति रात से घर नहीं पहुंचा है। जिस पर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज मामले की जांच शुरू की। एसीपी राधेश्याम ने बताया कि मृतक राकेश सरोहा और राजगीरी आपसे दोस्त थे और दोनो मिलकर एस्कोर्ट कंपनी में ट्रासंपोर्ट का ठेका चलाते थे। पहले ठेका राजगीरी के नाम से चल रहा था लेकिन कुछ दिनों से राकेश सरोहा ने अपने नाम से ठेका लेकर काम शुरू कर दिया था। राकेश ने अपने नाम से ठेका लिया तो राजगीरी को यह बात नागवार गुजरी और इसी बात की रजिशं रखते हुए राजगीरी ने मृतक सरोहा को अपने घर की छत्त पर अपने भांजे के साथ मिलकर ईंटो पीट पीट कर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद दोनो मृतक के शव को कैँटर में डालकर सोहना के तावडु में फेंक आए जहां पर तावडु थाना में मृतक का शव बरामद कर मामला दर्ज किया हुआ था। पुलिस ने जबपूछताछ की तो आरोपियों सबकुछ बक दिया। दोनो आरोपी अब पुलिस की पकड में हैँ। 
आरोपी राजगीरी ने बताया कि उसने अपने दोस्त की हत्या ट्रांसपोर्ट के ठेके की रंजिश रखते हुए की जिसमें उसका भांजा भी साथ था। उसको इस बात का कोई अफसोस नहीं है। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: