Thursday, April 12, 2018

सीएम फ्लाईंग ने किया एक्साइज विभाग में करोड़ों रुपए का घोटाला उजागर


CM Flying Exposed Crores Rupee Scam In Excise Department

फरीदाबाद 11 अप्रैल(abtaknews.com)  मुख्यमंत्री उडऩदस्ता फरीदाबाद की टीम ने एक बड़े घोटाले का फरीदाबाद में खुलासा किया है। एक्साइज टैक्सेशन विभाग के आला अधिकारियों की मिलीभगत से किए गए करोड़ों रुपए के घोटाले का मुख्य-मंत्री उडऩदस्ते ने पर्दाफाश कर इस मामले में गुडग़ांव और फरीदाबाद के अधिकारियों के अलावा विभाग के ठेकेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। यह घोटाला 14 करोड़ 70 लाख रुपए का बताया जाता है जिसमें से 5 करोड़ 17 लाख रुपए का घोटाला केवल फरीदाबाद में हुआ है। मामला तो दर्ज कर लिया गया है लेकिन पूरे मामले में किसी भी अधिकारी या ठेकेदार की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो सकी है। विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से एल-1 और एल- 13 के ठेकेदारों ने सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाया। फरीदाबाद के एक्साइज एंड टैक्सेशन विभाग में  फरीदाबाद मुख्यमंत्री उडऩदस्ते के एसीपी दिनेश यादव और उनकी टीम ने एक बड़े घोटाले को उजागर किया है। अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदार कम पैसे जमा कराते थे या कराते भी नहीं थे। लेकिन विभाग के कागजों में मैनुअली रकम को चढ़ा दिया जाता था। जबकि सच्चाई यह थी कि सरकार के खाते में तो पैसे पहुंचते भी नहीं थे। मामला जब हरियाणा सरकार के संज्ञान में आया तो मामले की जांच मुख्यमंत्री उडऩदस्ते को दी गई। दोनों ही जिलों में मुख्यमंत्री उडऩदस्ते की टीमें अपने अपने स्तर पर मामले की जांच करती रही। जांच में सारे मामले का खुलासा हो गया और उडऩदस्ते की टीम ने दोनों जिलों में अलग-अलग घोटालों को उजागर कर दिया। फरीदाबाद में 5 करोड़ 17 लाख का घोटाला हुआ तो गुडगांव में 9 करोड़ 70 लाख रुपए का घोटाला पाया गया। मुख्यमंत्री उडऩदस्ते के डीएसपी दिनेश यादव की माने तो घोटाला उजागर होने पर उनकी तरफ से ठेकेदारों में रघुवीर सिंह वीरेंद्र सिंह और नीरज सचदेवा शामिल पाए गए हैं जबकि अधिकारियों में विभाग के एटीओ अनिल बेनीवाल, राकेश शर्मा के अलावा इंस्पेक्टर राधेश्याम, प्रवीण पुंजानी, विशंभर और विजय कुमार शामिल पाए गए हैं। इन सभी के खिलाफ फरीदाबाद के सेंट्रल थाने में आईपीसी की धारा 420, 467, 471, और 120 के अलावा भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज करवा दिया गया है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: