Thursday, April 12, 2018

नानक शाह फक़़ीर फिल्म के विरोध में सिख समुदाय ने किया प्रदर्शन, ना हो फिल्म रिलीज

Sikh community protest against Nanak Shah Fakir film, will not let the film release

फरीदाबाद(abtaknews.com) 12 अप्रैल,2018 ; नानक शाह फक़़ीर फिल्म के विरोध में फरीदाबाद लघु सचिवालय पर सिख समाज के सैंकड़ो लोगो ने जमकर विरोध प्रदर्शन करते हुए फिल्म पर प्रतिबंद लगाने के लिये राष्ट्रपति के नाम जिला उपायुक्त कार्यालय में ज्ञापन सौंपा। कल वैशाखी पर 13 अप्रैल को फि़ल्म नानक शाह फक़़ीर रिलीज की जा रही है, जिसपर सिख समुदाय के लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर देश में कहीं भी फिल्म रिलीज की गई तो सिख समुदाय उग्र रूप में प्रदर्शन करेंगे जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन और सरकार की होगी। वहीं सिक्ख समुदाय ने इस फिल्म को सरकार की सोची समझी साजिश बताया है।
Sikh community protest against Nanak Shah Fakir film, will not let the film release

इतिहास पर बनाई गई फिल्म  पद्मावत के बाद अब सिखों के गुरू नानक देव पर बनाई गई फिल्म गुरू नानक शाह फकीर का विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है, 13 अप्रैल वैशाखी के दिन रिलीज होने वाली फिल्म के विरोध में फरीदाबाद सेक्टर 12 लघुसचिवालय पर पहुंचे सैंकडों सिख समुदाय के लोगों ने जमकर नारेबाजी की और फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के लिये राष्ट्रपति के नाम जिला उपायुक्त कार्यालय मे ज्ञापन सोंपा।

सिख समुदाय के इस प्रदर्शन में शामिल प्रदर्शनरियों में शामिल रविन्द्र सिंह राणा, जितेन्द्र कौर,जगजीत सिंहलोगो ने बताया कि सरकार की सोची समझी साजिश के तहत सिखों की भावनाओं के साथ खिलवाड करने के लिये ये फिल्म बनवाई गई है और अब इसे सुरक्षा प्रदान करके सरकार हॉल पर चलवाना भी चाहती है लेकिन सिख समुदाय ऐसा नहीं होने देगा, क्योंकि गुरू नानक पूरे समुदाय के गुरू हैं और उनके धर्म में गुरूओं का चित्रण नहीं किया जाता है फिर कोई आम अभिनेता गुरू का चोला कैसे पहन सकता है। यह उनके धर्म के विरूद्ध है। जिसका वह पुरजोर विरोध करते हैं। क्योंकि उनके गुरू का किरदार निभाने वाला अभिनेता कल किसी और चित्रण में नजर आयेगा तो फिर उनके समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचेगी इसलिये सिक्ख समाज नहीं चाहता कि कोर्ट उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली फिल्म को झंडी दिखाये। फिल्म निर्माताओं ने सिख समुदाय के घावों पर नमक छिडकने के लिये वैशाखी का दिन चुना है जो कि कल 13 अप्रैल को हैं लेकिन समुदाय पूरे देश में फिल्म को रिलीज नहीं होने देगा, अभी तो समुदाय के लोग शांतिप्रिय तरीके से फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की अपील कर कर रहे हैं अगर फिल्म रिलीज हुई तो देश के सामने सिख समुदाय का एक बार फिर उग्र रूप निकल कर आयेगा जिसका जिम्मेदार प्रशासन व सरकार खुद होगी। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: