Wednesday, April 18, 2018

श्री सिद्धदाता आश्रम में 11वां ब्रह्मोत्सव प्रारंभ, 18 से 22 अप्रैल तक होगा पूजन

Pravan will be inaugurated by Shri Siddhadar Ashram at 11 th Brahma Festival, from 18th to 22nd April

फरीदाबाद 18 अप्रैल(abtaknews.com)श्री सिद्धदाता आश्रम का पांच दिवसीय 11वां ब्रह्मोत्सव समारोह आज विधि अनुसार प्रारंभ हुआ। इस आयोजन में दक्षिण भारत से आए श्री रामानुज संप्रदाय के विद्वानों ने पूजन करवाया। यहां पांच दिन तक पूजनप्रवचनभंडारारथयात्राओं आदि का आयोजन होगा। जिसमें हजारों की संख्या में भक्त भागीदारी करेंगे।
श्री वैष्णव परंपरा में ब्रह्मोत्सव को एक प्रकार का स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है। श्री सिद्धदाता आश्रम के ब्रह्मोत्सव की शुरुआत अक्षय तृतीया के दिन होती है और पांच दिन तक आयोजन होता है। दक्षिण भारतीय मत को मानने वाले श्री सिद्धदाता आश्रम में अधिपति श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज के सान्निध्य में आज ब्रह्मोत्सव का आयोजन प्रारंभ हुआ जिसमें अंकुरारोपणध्वजारोहणअग्नि प्रतिष्ठाभेरी पूजा एवं देवता आवाहन का आयोजन हुआ। विशिष्ठ दक्षिण शैली में पुरोहितों ने पूजन किया। देवता आवाहन के बाद यहां अगले चार दिन भगवान का विभिन्न प्रकार से पूजन किया जाएगा।
इसमें 19 अप्रैल को सुदर्शन यज्ञ, 20 अप्रैल को भगवान श्री लक्ष्मीनारायण का विवाहोत्सव, 21 अप्रैल को श्री रामानुज जयंती पर शोभायात्रा एवं 22 अप्रैल को भगवान श्री लक्ष्मीनारायण एवं अन्य सभी देव विग्रहों के साथ विशाल शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा। इन दिनों यहां पर आने वाले भक्तों के लिए विशेष भंडारों का भी आयोजन किया जाएगा।
आश्रम के अधिष्ठाता श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने बताया कि आश्रम के ब्रह्मोत्सव में शामिल होने के लिए भक्तगण पूरे साल बेसब्री से इंतजार करते हैं। इसलिए इस आयोजन के लिए तैयारियां भी विशिष्ट होती हैं जिन्हें पूरा करने के लिए भक्त परिवार जुटे रहते हैं। उन्होंने सभी को इस आयोजन में शामिल होने का निमंत्रण भी दिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: