Saturday, March 10, 2018

नेशनल कॉन्फ्रेंस में बोले विशेषज्ञ स्तनपान न करवाने से भी होता है महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर

Speakers at the National Conference also do not have breastfeeding breast cancer in women

फरीदाबाद(abtaknews.com) 10 मार्च,2018 ; अगर आप एक महिला हैं और आपके छोटे छोटे बच्चे हैं मगर आप उन बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती है तो ये खबर आपके लिये बहुत महत्वपूर्ण है। आये दिन महिलाओं में बढ रहे ब्रेस्ट कैंसर की गंभीरता के चलते फरीदाबाद की मानव रचना यूनीवर्सिटी में 22 वीं नेशनल कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई जिसमें देश के ही नहीं बल्कि विदेशों के भी सैंकडों कैंसर विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया, इस कॉन्फ्रेंस में ब्रेस्ट कैंसर पर गंभीरता से चर्चा की गई और हाल ही में नई तकनीकी से होने वाले कैंसर के ईलाज के बारे में भी डाक्टरों ने एक दूसरे से अपने विचार सांझा किये। डाक्टरों ने ब्रेस्ट कैंसर का बडा कारण महिला द्वारा बच्चे को स्तनपान न करवाना बताया तो वहीं मोटापा और हारमोंस को भी जिम्मेदार ठहराया। यह कॉन्फ्रेंस सर्वोदय अस्पताल द्वारा करवाई गई जिसमें मुम्बई, दिल्ली, हैदराबाद, चैन्नई, बैंगलूर, हंग्री, उजबेकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और यूएसए के डाक्टरों ने अपनी अपनी राय दी। 

कैंसर विशेषज्ञों के अनुसार स्तनपान नही करवाने वाली महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने की पूरी संभावना होती है। ब्रेस्ट कैंसर विशेषज्ञों ने ये दावा किया है कि जो महिला स्तनपान नहीं करवाती है उसे भी कैंसर हो सकता है। इस ब्रेस्ट कैंसर के बिषय पर आज फरीदाबाद की मानव रचना यूनीवर्सिटी में 22वीं नेशनल कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई, जिसे सर्वोदय अस्पताल के द्वारा आयोजित करवाया गया, इस कॉन्फ्रेंस में मुम्बई, दिल्ली, हैदराबाद, चैन्नई, बैंगलूर, हंग्री, उजबेकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और यूएसए के डाक्टरों ने हिस्सा लिया और लगातार बढती जा रही ब्रेस्ट कैंसर की संख्या के बारे में चर्चा की।

डाक्टरों के मुताबिक 2016 में इंडिया के अंदर करीब डेढ लाख महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर हुआ है इस आंकडे के बाद कैंसर विशेषज्ञ काफी चिंतित है क्योंकि आये दिन बढ रहे ब्रेस्ट कैंसर की संख्यां ने सभी को चौंका दिया है, इस बिषय पर सभी डाक्टरों ने एक ब्रेस्ट कैंसर फांउडेशन भी बनाया है जिसके जरिये से सभी एक दूसरे से अपनी अपनी तकनीकी के बारे में बात करते हैं इस कॉन्फें्रस में भी हाल ही में आई ब्रेस्ट कैंसर के ईलाज की नई तकनीकी के आरे में सभी डाक्टरों ने एक दूसरे से अपने अपने विचार सांझा किये हैं। 

मुम्बई से आये कैंसर विशेषज्ञ डा. दिनेश भंडारकर ने बताया कि कैंसर को लेकर लोगों को जागरूक होना होगा जैसे ही उन्हें तोडा भी आभास होता है तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और अपने जहन से निकाल दें कि कैंसर जानलेवा होता है क्योंकि कैंसर का ईलाज पूरी तरह से संभव हो गया है। ब्रेस्ट कैंसर के कारणों के बारे में बताते हुए डाक्टर ने कहा कि मोटापा और हारमोंस के चलते भी कैंसर पनप जाता हैं  तो वहीं डाक्टर ने चौंकाने वाला कारण बताते हुए कहा कि जो महिलायें अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती है तो उन्हें भी ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है, क्योंकि दशकों पहले परिवार में बच्चों की संख्यां ज्यादा होती थी तो महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की बहुत कम संख्यां पाई जाती थी मगर हाल ही में परिवार में बच्चों की संख्यां कम हो गई है और वहीं महिलायें अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती हैं जिससे ब्रेस्ट कैंसर होने के चांसिज बढ जाते हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: