Wednesday, March 14, 2018

निगम ने सडक में लगाई थर्ड क्वालिटी की टाईल, सडक से उखाडकर करवाई जायेगी जांच


फरीदाबाद 14 मार्च(abtaknews.com) बल्लभगढ मेें नगर निगम प्रशासन का एक और नया कारनाम सामने आया है, 56 लाख की लागत से बनी सडक में लगी टाईलों को सडक से उखाडकर अब लिबर्टी टैस्ट के लिये भेजा जायेगा। बता दें कि बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा ने 27 फरबरी को 56 लाख की लागत से बनने वाले कैपिटल बस अड्डा मार्ग पर 4 दिन में सडक बनाकर तैयार करने का वायदा किया था, वायदेनुसार सडक़ तो 4 दिन में बन गई मगर इंटरलॉकिंग टाइल थर्ड क्वालिटी उपयोग की गई। जबकि 1 नवंबर 2017 से एक नियम लागू हुआ जिसमें साफ दर्शाया गया है कि आईएसआई मारका इंटरलॉकिंग टाइल ही विकास कार्यों में लगाई जाएंगी। विरोध के बाद अब निगम प्रशासन टाईलों की जांच करवा रहा है।   दिखाई दे रहा है यह नजारा बल्लभगढ़ कैपिटल बस अड्डा रोड का है जहां पर बल्लभगढ़ के विधायक ने 27 फरवरी को कैपिटल बस अड्डे के आरसीसी लेंटर से बनने वाले रोड का नारियल फोडकऱ शुभारंभ किया था और विधायक ने महज इस रोड को तैयार होने के लिए 4 दिन का समय मांगा था हलाकि रोड तो 4 दिन में बनकर तैयार हो गया । लेकिन रोड के साथ लगाई जाने वाली इंटरलॉकिंग टाइल थर्ड क्वालिटी की लगाई जा रही है जिसका लोगों ने विरोध किया है।  
जब इस मामले में बल्लभगढ़ जॉइंट कमिश्नर अमरदीप जैन से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा की 1 नवंबर 2017 से पहले की पास हुई फाइलों में जो टाइल पास की गई हैं वही काम में ली जा रही है और जो 1 नवंबर 2017 के बाद फाइल पास हुई है उनमें आईएसआई मारका टायरों का इस्तेमाल किया जा रहा है हालांकि जो टाईल इस रोड पर यूज की जा रही हैं उनमें दो तरह की टाइल यूज़ की है जो कि एक का कलर लाल है और एक का सफेद इन दोनों कलर की टाईलों को लिबर्टी में टेस्ट के लिए भेजा जाएगा जो टाइल पास नहीं होंगी उनको काम में नहीं लिया जाएगा ।  दुकानदारों का मानना है कि आईएस मारका टाइल से रोड कीमत करीबन 10 साल बढ़ जाती है आई एस आई मार्क का टाइम लगने से रोड करीबन 10 साल और ज्यादा चलता है जो टायर अब यूज की जा रही हैं वह इस रोड को ज्यादा दिन नहीं चला पाएंगे। आपको बता दें कि इंटरलॉकिंग टाईल रोड का काम एक साइड से लगभग पूरा हो चुका है और अब इन टाइलों को लेवल-2 टेस्ट के लिए भेजा जाएगा, अगर ये टैैस्ट पहले ही करवा लिया होता तो समय और पैसा दोनों की बचत हो सकती थी। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: