Tuesday, March 6, 2018

फरीदाबाद पुलिस का थर्ड डिग्री टार्चर, पीड़ितों पर फैसले का दबाव बना रही पुलिस

 
Faridabad Police's Third Degree Torture, Police Making Pressure on Victims

फरीदाबाद(abtaknews.com) 06 मार्च,2018; एक बार फिर सेवा सुरक्षा और सहयोग का नारा देने वाली हरियाणा पुलिस का घिनौना चेहरा सामने आया है।मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद का है जहाँ एक शिकायतकर्ता की पुलिस ने उलटे पिटाई कर दी।  पीड़ित के मुताबिक़ पुलिस वाले उसका और आरोपी पक्ष का फैसला करवाना चाहते थे और जब उसने मना कर दिया तो पुलिस वालो ने उसकी पट्टे और डंडे से बुरी तरह से पिटाई कर दी।फिलहाल पुलिस की पिटाई से घायल शिकायतकर्ता निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती है।  लेकिन सेवा सुरक्षा और सहयोग का नारा देने वाली पुलिस ने तीन दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक उसकी शिकायत पर मामला दर्ज नहीं किया है।  वहीँ पुलिस की पिटाई का एक और वीडियो सामने आया है जो पुलिस की खाकी में छुपे घिनौने चहरे की गवाही दे रहा है,हालांकि दूसरे वीडियो में दिखाई दे रहे शख्स पुलिस पिटाई के बाद  कैमरे पर आकर कुछ भी कहने से बच रहा है। दोनों ही मामले एक मार्च के बताये जाए रहे है।  
Faridabad Police's Third Degree Torture, Police Making Pressure on Victims

दूसरी तस्वीर जिसमे युवक बुरी तरह घायल दिखाई देता है वह फरीदाबाद के 3 नम्बर इलाके में रहने वाले एक शख्स पीनू की है और उसकी पीठ पर बने निशान भी साफ़ तौर पर गवाही दे रहे है की इस युवक को किसी ने बुरी तरह से पीटा है। लेकिन ज़रा गौर से सुन लीजिए इसकी पीठ पर बने निशान किसी लड़ाई झगड़े में नहीं बने है बल्कि इसकी पीठ पर ये निशान सेवा सूरक्षा और सहियोग  का नारा देने वाली फरीदाबाद पुलिस ने दिए है। अब इसका कसूर  भी सुन लीजिए घटना एक मार्च की है। पीड़ित पीनू को अपने पड़ोस में रहने वाले एक युवक से कुछ रूपये लेने थे, जब इसने उससे रूपये मांगे तो उसने अपने कुछ लोंगो के साथ उसके घर पर हमला बोल दिया और ईंट पत्थर मार कर इसे और इसकी पत्नी को घायल कर दिया। जिसके बाद  पीड़ित शिकायत लेकर 3 नम्बर पुलिस चौकी पहुँचा।पुलिस ने पीनू की पत्नी का मैडिकल करवाया और उन्हें घर भेज दिया लेकिन पुलिस ने इसकी शिकायत पर कोई FIR दर्ज नहीं की बल्कि उसे  होली होने के चलते तीसरे दिन फैसले के लिए बुलाया। जब वह तीसरे दिन चौकी पहुँचा तब पुलिस  उसकी शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की बजाय उस पर आरोपी पक्ष से फैसला करने का दबाव बनाने लगी। लेकिन इस युवक ने मना कर दिया फिर क्या था उसके मना  करने के बाद पुलिस की खाकी में छुपा शैतान जाग गया और इस युवक की पट्टे और डंडे से बेरहमी से पिटाई कर दी ,पीड़ित के रोने चिल्लाने की आवाज सुनकर जब उसके घरवालो ने उससे मिलना चाहा तब पुलिस वालो ने उन्हें भी धक्का देकर भगा दिया और कहा की जहाँ जाकर शिकायत करनी है कर लो। फिलहाल पीड़ित युवक की तबियत बिगड़ने पर उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहाँ उसका इलाज चल रहा है।  

दूसरा वीडियो जो कि 3 नम्बर पुलिस चौकी का ही है और 1 मार्च का ही बताया जा रहा है इस वीडियो में भी आप देख सकते है किस कदर  इस युवक को बुरी तरह पीटा गया है , ये पीड़ित भी पुलिस पर ही आरोप लाग रहा है पीड़ित वीडियो में कह रहा है की उसे भी  पुलिस वालो ने ही लात घूंसो से बेरहमी से पीटा है और बोलते बोलते बेहोश हो जाता है , लेकिन  पुलिस पिटाई के खौफ के चलते ये युवक कैमरे पर आकर कुछ भी कहने से बच रहा है।इन दोनों मामलो में पुलिस का असली चेहरा सामने आने के बाद पुलिस कैमरे पर आकर कुछ भी कहने से बच रही है। लेकिन इन आरोपों में  सच्चाई कितनी है ये तो पुलिस का पक्ष सामने आने के बाद ही पता चलेगा।  

loading...
SHARE THIS

0 comments: