Monday, March 19, 2018

शिखर से शून्य की ओर आते नेताजी आजकल खूब झल्लाते हैंअपने दरबार के फरियादियों पर

Giving the summit to zero, Netaji wins a lot nowadays.

फरीदाबाद (abtaknews.com - दुष्यंत त्यागी) 19 मार्च,2018 ; चक्र,चक्की और चाणक्य जैसे शब्दों से नवाजे जाने वाले नेता जी आजकल तनाव में हैं जो कि उनके व्यवहार से साफ दिखाई देता हैं। शिखर से शून्य की ओर आते नेताजी अपने दरबार में फरियाद लेकर आने वाले फरियादियों पर ही खूब झल्लाते हैं, डांटते और खरी खरी सुनाते है। अपने नेता का ऐसा उग्र रूप देखकर उनके समर्थक सदमे में है कि आखिर माजरा क्या है।  

उनका इलाका मीडिया में सुर्खियां बटोरता है। जिसकी गूँज दिल्ली तक सुनाई देती है। बड़े दरबार में किरकिरी होने से भन्नाये नेताजी मीडिया कर्मियों से भी उखड़े उखड़े रहते हैं। रविवार के दिन अपने कार्यालय पर आए फरियादियों को ही नेता जी खरी खरी सुनाने लगे।  कोई बेचारा नौकरी के लिए आया तो कोई अपने गांव के कार्य करवाने के लिए नेताजी ने सभी को खूब भला बुरा कहा और सबके सामने डांटा भी।  अपने नेता का रौद्र रूप देखकर बेचारे फरियादी चुपचाप अपना सा मुँह लेकर लौट आए।  वापसी में कुछ तो दबी जुबान से बड़बड़ाते हुए कहने लगे तू एक साल बाद तो आएगा म्हारे पास बोटन कू दारी के तब जवाब दींगे हम तोय। अपनों से उखड़ने और गैरों को गले लगाने वाले पुत्र मोह में डूबे बेलगाम हुए नेता को इसबार क्षेत्र की जनता गोरखपुर और फूलपुर जैसा आईना दिखाने को तैयार है।  

loading...
SHARE THIS

0 comments: