Wednesday, March 14, 2018

किसानों ने एचएसआईआईडीसी का किया घेराव, मांगे नहीं मानी तो आईएमटी को करेंगे बंद

Farmers do not accept HSIIDC's office, demand demands, IMT will stop

फरीदाबाद(abtaknews.com )आईएमटी में बढ़े हुये मुआवजे, प्लाट और बच्चो को नौकरी दी जाने की मांग को लेकर पिछले तीन माह से धरने पर बैठे किसानो ने आज सेक्टर 31 स्थित एचएसआईआईडीसी के कार्यालय का घेराब किया। जहां पहले से तैनात किये गये भारी पुलिस बल किसानों को नाकाबंदी कर कार्यालय में घुसने नहीं दिया। किसानों ने कार्यालय के सामने बैठकर जमकर सरकर के खिलाफ नारेबाजी की। जहां किसानों ने  एचएसआईआईडीसी के अधिकारी डीएस भट्टी पर भ्रष्ट्राचार के आरोप लगाते हुए उनके तबादले की मांग की और चेतावनी दी कि अगर जल्द उनकी मांगेे नहीं मानी गई तो अब वह प्रदर्शन नहीं आईएमटी को बंद करेंगे।

फरीदाबाद सेक्टर 31 स्थित एचएसआईआईडीसी के कार्यालय के बाहर सैंकडों की संख्यां में बैठे नजर आ रहे ये पुरूष और महिलायें वो ही किसान हैं जो पिछले 87 दिनों ने आईएमटी में बढ़े हुये मुआवजे, प्लाट और बच्चो को नौकरी दी जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं। किसानों ने इससे पहले सरकार के सभी मंत्री व विधायकों को ज्ञापन भी सोंपे हैं मगर उनकी मांगों का कोई भी समाधान नहीं हुआ है, जिसका कारण एचएसआईआईडीसी कार्यालय में बैठे अधिकारी डीएस भट्टी को बताया जा रहा है, किसानों ने आरोप लगाया है कि डीएस भट्टी एक भ्रष्ट अफसर है जिसका तबादला होना चाहिये इसी मांग को लेकर सभी किसान एचएसआईआईडीसी कार्यालय पहुंचे मगर पुलिस ने पहले से किसानों के उपर पहरा लगा दिया  और सभी किसानों को कार्यालय में जाने से पहले ही नाकबंदी की रोक दिया गया, किसानों की बात सुनने के लिये अधिकारी न तो खुद बाहर आये और न ही किसानों को अंदर बुलाया, जिसपर किसान वापिस ही लौट गये।

किसानों ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि तो 5 गांव की जमीन आईएमटी में अधिग्रहीत कर गई थी जिसका बढा हुआ मुआवजा अभी तक नहीं दिया गया, प्लॉट देने का वायदा किया गया था जो अभी किसी भी किसान को नहीं मिला है वहीं एक परिवार के सदस्य को नोकरी देने की बात भी की गई थी जो भी पूरा नहीं हुआ है, इसके पीछे एचएसआईआईडीसी में बैठा भ्रष्ट अधिकारी डीएस भट्टी है जिसका तबादला किया जाये। क्योंकि जमीन आईएमटी में जाने के बाद सभी किसान बेराजगार हो गये हैं जब तक जमीन थी तब तक फसल उगा लेते थे मगर अब उनके पास कुछ नहीं हैं, इसलिये उनकी मांग है कि जल्द उनकी सभी मांगे पूरी नहीं की गई तो अब वह प्रदर्शन नहीं आईएमटी को बंद करेंगे। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: