Thursday, March 15, 2018

सीवरमैन कर्मचारियों के साथ मारपीट के आरोपी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर टूल डाऊन हड़ताल


फरीदाबाद, 15 मार्च(abtaknews.com )नगर निगम के सीवरमैन कर्मचारियों के साथ मारपीट करने वाले आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने व गिरफ्तारी की मांग को लेकर नगर निगम सीवरमैन कर्मचारियों ने टूल डाऊन हड़ताल शुरू कर दी है। कर्मचारियों ने पुलिस प्रशासन से दोषी अनिल निवासी मेवला महाराजपुर को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए निगम के सभी विभागों के कामकाज को ठप करने की चेतावनी दी है। इस हड़ताल की अध्यक्ष सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार व बेलदार यूनियन के नेता रोहताश रेढू ने संयुक्त रूप से की।

गौरतलब है कि विगत आठ मार्च को प्रात: नौ बजे सैक्टर-21 स्थित पानी की टंकी स्टोर पर मेवला महाराजपुर निवासी अनिल नामक एक व्यक्ति सीवर की शिकायत लेकर आया और उसने सीवरमैन कर्मचारी राजू व हुकम के साथ मारपीट व झगड़ा किया। जिसकी शिकायत संबंधित सैक्टर-21ए की चौकी को कर दी गई थी, लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद अभी तक न तो आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की और न ही मुकदमा दर्ज किया। इससे नाराज होकर गुस्साए कर्मचारियों ने नगर निगम मुख्यालय पर टूल डाऊन हड़ताल शुरू कर दी है।
कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने दोषी की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कहा कि कर्मचारियों और जनता के बीच होने वाले झगड़ों का मुख्य कारण सीवरमैन कर्मचारियों की भारी कमी है। कर्मचारियों के न होने के कारण सीवर समस्या की शिकायतों का निवारण समय पर नहीं हो पाता है। उन्होंने निगम प्रशासन से सीवरमैन कर्मचारियों की भर्ती करने की मांग की है।

श्री शास्त्री ने कहा कि हरियाणा सरकार ने ठेकेदारी प्रथा को समाप्त करने का वायदा किया था लेकिन सरकार ठेकाप्रथा को और तेज गति से लागू करने का काम कर रही है। नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा सरकार द्वारा किए गए वायदों को लागू करवाने व 80 शहरों का घर-घर से उठाने का ठेका ईको ग्रीन कम्पनी को देने के विरोध में प्रदेश के सभी जिलों में कल ईको ग्रीन कम्पनी व हरियाणा सरकार का पुतला दहन करेगें तथा 18 मार्च को हरियाणा के सभी 80 शहरों के पालिका, परिषद व निगमों के कर्मचारी शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन के सोनीपत स्थित आवास का घेराव करेगें।

आज की हड़ताल को अन्य के अलावा कर्मी नेता गुरचरण खांडिय़ा, नानकचंद खैरालिया, बलवीर सिंह बालगुहेर, सतपाल सिंह मेंढवाल, वेदभड़ाना, सोमपाल झिझोटिया, श्रीनंद ढकोलिया, गुलाब सिंह, मांगेराम चिंडालिया, अनूप चिंडालिया,  कुंवरपाल आदिवासी, ताराचंद, राजू मंडोतिया, कुंवरपाल बालगुहेर आदि ने सम्बोधित किया।



loading...
SHARE THIS

0 comments: