Friday, March 30, 2018

हरियाणा सर्वे में चूड़ा, भंगी लिखने और एससी/एसटी एक्ट में कोर्ट के निर्णय के विरोध में प्रदर्शन

फरीदाबाद, 30 मार्च(abtaknews.com) हरियाणा सरकार द्वारा जातीय आधारित सर्वे कराने की सूची में चूड़ा, भंगी लिखने के विरोध में व एससी/एसटी एक्ट के संदर्भ में 18 मार्च को सुप्रीम कोर्ट के डबल बेंच द्वारा दिए गए निर्णय के खिलाफ फरीदाबाद नगर निगम के हजारों कर्मचारी आज जिला उपायुक्त को प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देने जिला मुख्यालय पहुंचें। कर्मचारियों को देखते ही पुलिस प्रशासन ने लघु सचिवालय को छावनी बना डाला तथा मुख्य द्वार को बंद कर दिया। इसको लेकर कर्मचारी और पुलिस प्रशासन में भारी तनाव बन गया। पुलिस प्रशासन व कर्मचारियों के बीच तीखी झड़पे हुई और लाठीचार्ज करने जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए नगर पालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने जिला प्रशासन को अनुरोध किया कि कर्मचारियों को ज्ञापन देने के लिए परिसर के अंदर आने दिया जाए। इस पर एसडीएम सतबीर मान ने कर्मचारियों के लिए गेट खुलवाया और कर्मचारियों का ज्ञापन लिया।
Performing a protest against the court's decision in the Chuma, Bhangi and SC / ST Act in the Haryana Survey

श्री शास्त्री ने एसडीएम सतबीर मान से जिला प्रशासन द्वारा आम आदमी को लघु सचिवालय के अंदर आने से रोकने की कार्यवाही पर सख्त ऐतराज जताते हुए इसको अलोकतांत्रिक बताया। श्री शास्त्री ने कहा कि वह मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर से मिलकर स्वयं इस घटनाक्रम की शिकायत करेगें। इस अवसर पर सर्व कर्मचारी संघ, हरियाणा के प्रदेश महासचिव सुभाष लाम्बा, जिला सचिव युद्धवीर खत्री ने  कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए दो अप्रैल के भारत बंद के आन्दोलन में सर्व कर्मचारी संघ की ओर से शामिल होने का ऐलान किया। श्री शास्त्री ने भी कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए प्रदेश की सभी 80 शहरों के नगरपालिका, नगर निगम व नगर परिषदों के कर्मचारियों को दो अप्रैल के भारत बंद आन्दोलन में शामिल होने का होने का ऐलान किया।
गौरतलब है कि नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा व सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आह्वान पर आज नगर निगम के कर्मचारी भोजन अवकाश के समय निगम मुख्यालय पर एकत्रित हुए और जुलूस बनाकर जिला उपायुक्त कार्यालय की ओर रवाना हुए। उपायुक्त के माध्यम से एससी/एसटी एक्ट की गरिमा बनाए रखने के लिए माननीय प्रधानमंत्री के नाम सुप्रीम कोर्ट में पुर्नर्विचार याचिका दायर करने व हरियाणा में जातीय आधारित सर्वे की जातीय सूची की क्रम संख्या 11 पर चूड़ा, भंगी शब्द को हटाने व दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए ज्ञापन देने उद्देश्य से कर्मचारी लघु सचिवालय पहुंचे थे।

आज के इस प्रदर्शन का नेतृत्व संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, नानकचंद खैरालिया, गुरचरण खाण्डिया, बलवीर सिंह बालगुहेर, श्रीनंद ढकोलिया, सुदेश कुमार, रघुबीर चौटाला, जितेन्द्र, वेद भड़ाना, रोहताश रेढू, प्रेमपाल, महिला नेता कमला, माया, कमलेश ने किया। इस प्रदर्शन में अन्य के अलावा कर्मी नेता बिल्लू चिंडालिया, कृष्ण चिंडालिया,  शक्ति, नरेश भगवाना, देेविन्द्र मंझावली आदि नेता शामिल थे।



loading...
SHARE THIS

0 comments: